Jharkhand : स्वच्छ हवा और नीला आकाश के लिए सामूहिक और समाधानपरक प्रयास जरूरी : रमापति कुमार

रांची,07 सितम्बर । इंटरनेशनल डे ऑफ क्लीन एयर फॉर ब्लू स्काइज के अवसर पर रांची नगर निगम और सेंटर फॉर एनवायरमेंट एंड एनर्जी डेवलपमेंट (सीड) की ओर से बुधवार को कार्यशाला का आयोजन किया गया। मौके पर सीड के सीईओ रमापति कुमार ने कहा कि स्वच्छ हवा और नीला आकाश के लिए सामूहिक और समाधानपरक प्रयास जरूरी है। उन्होंने कहा कि सरकारी एजेंसियों ने वायु प्रदूषण को कम करने के लिए सराहनीय कदम उठाए हैं, हालांकि समुचित परिणाम के लिए कन्वर्जेन्स एप्रोच के साथ समन्वय और नागरिकों एवं सिविल सोसाइटी संगठनों की सक्रिय भागीदारी बेहद जरूरी है, ताकि उनके जरिए स्थानीय समाधानों एवं ठोस क्रियान्वयन को बल मिल सके। बड़े बदलाव की शुरुआत लोगों के छोटे मगर अहम् प्रयासों से होती है। हम सभी को राज्य में प्रदूषित आबोहवा से नीला एवं स्वच्छ आकाश सुनिश्चित करने के लिए मिशन रूप में काम करने की आवश्यकता है।

रांची नगर निगम के नगर आयुक्त शशि रंजन ने कहा कि राज्य सरकार ने एक प्रमुख सार्वजनिक मुद्दे के रूप में वायु प्रदूषण को कम करने के लिए नीतिगत प्राथमिकता दी है। एयर क़्वालिटी को बेहतर करने की योजना एवं समाधानों में आम नागरिकों को पूरी प्रक्रिया से जोड़ा जा रहा है। हम शहर में स्वच्छ हवा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और प्रदूषण के स्रोतों को नियंत्रित करने के लिए कई कदम उठा रहे है।

बताया गया कि हवा एवं परिवेश को स्वच्छ और स्वस्थ बनाने के लिए सभी प्रमुख स्टेकहोल्डर्स के द्वारा सामूहिक भागीदारी पर बल दिया गया। इंटरनेशनल डे ऑफ क्लीन एयर फॉर ब्लू स्काइज” (”नीले आकाश एवं स्वच्छ वायु का अंतर्राष्ट्रीय दिवस) का मकसद जनस्वास्थ्य, अर्थव्यवस्था और पर्यावरण के लिए स्वच्छ हवा के महत्व पर जागरूकता बढ़ाना है।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *