Jharkhand Congress : निशुल्क टीकाकरण की पहल कर झारखंड सरकार ने सराहनीय कदम उठाया

Insight Online News

रांची, 14 मई : कांग्रेस ने शुक्रवार से राज्य में 18 वर्ष से अधिक उम्र के युवाओं के लिए शुरू हुए वैक्सीनेशन के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, वित्तमंत्री रामेश्वर उरांव और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के प्रति आभार व्यक्त किया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ और राजेश गुप्ता ने शुक्रवार को कहा कि झारखंड सरकार ने निशुल्क टीकाकरण की पहल कर सराहनीय कदम उठाया है।पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में वैक्सीनेशन के लिए युवाओं और ग्रामीणों को प्रेरित करने के लिए कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं की ओर से राज्यभर में विशेष अभियान की भी शुरुआत की गयी है।

इसी क्रम में प्रदेश प्रवक्ताओं ने रांची के युवाओं के लिए जेवियर स्कूल में बने वैक्सीनेशन सेंटर का जायजा लिया। पार्टी नेताओं ने नामकुम स्थित स्वास्थ्य केंद्र तथा अन्य टीकाकरण केंद्रों का भी जायजा लेकर टीका लेने के लिए सभी को प्रोत्साहित किया गया।

प्रवक्ताओं ने कहा कि झारखंड में एक करोड़ 47 लाख से अधिक युवाओं के लिए अभी मात्र 2.40 लाख वैक्सीन डोज ही उपलब्ध है। ऐसे में केंद्र सरकार को वैक्सीन उपलब्ध कराने की दिशा में कारगर कदम उठाना चाहिए। केंद्र सरकार की अनदेखी और बार-बार आग्रह के बावजूद कोई सहायता नहीं मिलने पर भी झारखंड सरकार की ओर से युवाओं के लिए निःशुल्क टीकाकरण की व्यवस्था सराहनीय प्रयास है।

अखिल भारतीय कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और वरिष्ठ नेता राहुल गांधी के मार्गनिर्देशन में राज्य सरकार की ओर सभी को कोविड-19 वैक्सीन उपलब्ध कराने की दिशा में कारगार और प्रभावी कदम उठाया जा रहा है। इसके लिए पार्टी राज्य सरकार के प्रति आभार व्यक्त करती है। दुनिया भर के कई देशों में समय रहते हुए वैक्सीनेशन को लेकर पर्याप्त संख्या में आर्डर दिया गया, लेकिन इस दौरान भाजपा नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जश्न मनाते व चुनावी तैयारी में जुटे रहे। देश में सभी को कोरोना टीका लेने के लिए 180 करोड़ डोज की आवश्यकता होगी। जबकि अभी तक सिर्फ 17 करोड़ डोज ही दिया जा चुका है।

इस तरह से अभी 162 करोड़ और कोरोना वैक्सीन के डोज की जरुरत होगी, लेकिन इसी धीमी गति से टीकाकरण चलता रहा, तो भारत में सभी को वैक्सीन दिलाने में तीन साल आठ महीने से अधिक समय लगेगा। सरकार खुद मान रही है कि अभी पीक आना बाकी है और तीसरी लहर की भी चेतावनी दी गयी है। इसके बावजूद केंद्र सरकार की ओर से पिछले दिनों छह करोड़ डोज दूसरे देशों को दान दे दिया गया। कोरोना संक्रमण से निजात के लिए केंद्र सरकार के उदासीन रवैये के कारण ही आज पूरे देश में अफरा-तफरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है। पूरे देश के साथ झारखंड भी इससे काफी प्रभावित रहा, लेकिन राज्य में गठबंधन सरकार के प्रयास से अब संक्रमण की दर में कमी आ रही है।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES