Jharkhand Congress Update : बेरमो जीत के प्रति पूरी तरह से आश्वस्त हैं , रामेश्वर

रांची, 13 अक्टूबर : झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उराँव की उपस्थिति में कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह बेरमो विधानसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में बुधवार को अपना पर्चा दाखिल करेंगे। 14 अक्टूबर को डेढ़ बजे तेनुघाट स्थित सदर अनुमंडल अधिकारी के समक्ष अनूप सिंह गठबंधन उम्मीदवार के तौर पर अपना पर्चा दाखिल करेंगे।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव, विधायक दल नेता आलमगीर आलम, कृषि मंत्री बादल पत्रलेख सहित कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर, प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव आदि उपस्थित रहेंगे। बुधवार की सुबह नौ बजे बरियातू स्थित आवास से रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में कांग्रेस के नेता नामांकन के लिए प्रस्थान करेंगे। नामांकन के बाद जैना मोड़ पर एक आम सभा आयोजित की गई है जिसमें राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, रामेश्वर उराँव, आलमगीर आलम, बादल पत्रलेख जनसभा में उपस्थित रहेंगे। आलोक दुबे ने बताया कि बेरमो विधानसभा उपचुनाव को लेकर आज कांग्रेस भवन में एक बैठक डा रामेश्वर उराँव की अध्यक्षता में समपन्न हुई। बैठक में कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर, केशव महतो कमलेश, संजय लाल पासवान,मानस सिन्हा आदि उपस्थित थे।

बैठक में यह तय हुआ कि बुधवार के नामांकन प्रक्रिया में आशीर्वाद देने के लिए कांग्रेस नेता तेनुघाट जाऐंगे। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए रामेश्वर उराँव ने कहा कि बेरमो जीत के प्रति पूरी तरह से आश्वस्त हैं। हमारा गठबंधन पूरी तरह से एकजुटता के साथ चुनाव में उतरेगी। झामुमो, राजद सबसे मेरी बात हुई है। हमारी दोनों सीटों पर विजय सुनिश्चित है। प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता छोटू ने बीजेपी के चुनाव आयोग में जाने को ड्रामा करार दिया है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि अपने निश्चित पराजय को देखकर इस तरह की घटिया और ओछी राजनीति कर रही है भाजपा।

रघुवर दास ने अपने विधानसभा सहित पूरे प्रदेश में चहेते प्रशासन के अधिकारियों के मातहत चुनाव लड़ा था फिर भी उनकी पराजय हो गई। यह किस प्रकार की मानसिकता है कि पुलिस या प्रशासन के अधिकारियों के वजह से अगर चुनाव जीता या हारा जा सकता तो 70 वर्षों में भारतीय लोकतंत्र आज दुनिया में स्वीकार्य नहीं होती। इस तरह की घटिया राजनीति बंद होनी चाहिए। सच तो यह है कि भाजपा पूरी तरह से मान चुकी है कि उनकी पराजय सुनिश्चित है और कल जब हमारा नामांकन होगा तब इनके बयान होंगे कि वहां के पुलिस अधीक्षक और उपायुक्त ने भीड़ इकट्ठा करने में सहायता की है। जनता की भावनाओं का अगर इसी प्रकार भाजपा ने अनादर किया तो इनका हश्र और बुरा होगा।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *