Jharkhand Corruption News Update : झारखंड में घूसखोरी का धंधा धड़ल्ले से जरी है

Insight Online News

रांची। जाति, वर्ग और धर्म की दीवारे तोड़ते हुए झारखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी पदाधिकारी लगातार घूसखोरी की मिसाल कायम कर रहे हैं। बेइमानी और घूसखोरी में महिलाएं भी पुरुषों से भी आगे निकलने के लिए कोई कसर बाकि नहीं छोड़ रहीं।

झारखंड का एक जिवंत उदाहरण

जिसका एक जिवंत उदाहरण है खूंटी महिला थाना की प्रभारी मीरा सिंह, जिनको भ्रष्टचार निरोधी ब्यूरो(एसीबी) की टीम ने एक पीड़िता से 15 हजार रुपए घूस लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया।
एसीबी की टीम ने महिला थाना प्रभारी को बगड़ू गांव निवासी नागी होरो की शिकायत पर जाल बिछाकर घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के बाद महिला थाना प्रभारी को एसीबी की टीम अपने साथ रांची ले गई।

जानकारी के अनुसार महिला थाना प्रभारी मीरा सिंह उक्त महिला से उसके फौजी बेटे को यौन शोषण के एक मामले में फंसाने का भय दिखाकर उससे मोटी रकम की मांग कर रही थी। पीड़िता नागी होरो ने बताया कि महिला थाना प्रभारी ने गत 13 जनवरी को उसे थाना बुलाया और कहा कि फौज में तैनात उसके बेटे के विरुद्ध बेलवादाग की एक युवती ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। अगर उसके बेटे के विरुद्ध केस हो जाता है, तो उसकी नौकरी भी जाएगी और वह जेल भी जाएगा।

महिला थाना प्रभारी ने उसके बेटे को बचाने के एवज में उससे दो लाख रुपए की मांग की। इस पर डर से उसने अपनी पैतृक संपत्ति बेचकर पैसे की जुगाड़ की और दो किस्तों में महिला थाना प्रभारी को दो लाख रुपए दे दिये। इसके बाद भी महिला थाना प्रभारी आए दिन उसके घर पहुंचकर और पैसे की मांग करने लगी तथा धमकी देने लगी कि और 50 हजार रुपये नहीं देने पर उसके बेटे को फंसा दिया जाएगा। महिला ने बताया कि थाना प्रभारी की धमकी ने उनका जीवन दुभर कर दिया था। अंततः नागी होरो 24 फरवरी को रांची जाकर एसीबी के समक्ष अपनी शिकायत दर्ज करा दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *