Jharkhand : ईडी ने पंकज मिश्रा सिंडिकेट के 51 बैंक खातों को किया फ्रीज

ईडी ने पंकज मिश्रा सिंडिकेट के 51 बैंक खातों को किया फ्रीज

रांची, 27 सितम्बर । प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा सिंडिकेट के 51 बैंक खातों को फ्रीज किया है। इन बैंक खातों में कुल 13.32 करोड़ रुपये जमा थे।

ईडी ने चार्जशीट में कहा है कि उसने 13.32 करोड़ रुपये के आरोपित व्यक्तियों के 51 बैंक खातों को फ्रीज कर दिया है। इसमें पंकज मिश्रा के चार बैंक खाते शामिल हैं, जिनमें 83.98 लाख रुपये नकद हैं। इनमें सबसे अधिक खाते कृष्णा साव, उनकी कंपनियों और हिंदू संयुक्त परिवार के हैं, जहां लगभग आठ करोड़ रुपये नकद रखे गए थे। इसके अलावा दाहू यादव के छह बैंक खाते (10 लाख रुपये) और उनकी दो परिवहन कंपनियों सिंहवाहिनी ट्रांसपोर्ट और यादव ट्रांसपोर्ट (1.38 करोड़ रुपये) के तीन खातों को फ्रीज कर दिया गया है।

ईडी ने मां दुर्गा स्टोन वर्क्स (42 लाख रुपये) और विष्णु प्रसाद यादव (47.19 लाख रुपये) के खातों को भी फ्रीज कर दिया। ईडी की चार्जशीट से पता चलता है कि आरोपित व्यक्तियों ने मनी लॉन्ड्रिंग के लिए कई कंपनियों का इस्तेमाल किया था। इसके अलावा नेचर एचपी फ्यूल्स, कृष्ण कुमार साहा एंड संस, हिंदुस्तान कंस्ट्रक्शन और कुछ अन्य के बैंक खातों को फ्रीज किया गया है।

उल्लेखनीय है कि ईडी ने बीते आठ जुलाई को अवैध खनन मामले की जांच को लेकर साहिबगंज और आसपास के इलाके में पंकज मिश्रा सहित उनके कई अन्य सहयोगियों के कुल 21 ठिकानों पर छापेमारी की थी। इस मामले में पंकज मिश्रा, बच्चू यादव को ईडी ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

ईडी ने कहा है कि सभी आरोपितों के द्वारा साहिबगंज में अवैध पत्थर खनन किया जाता था। इन गतिविधियों को पंकज मिश्रा नियंत्रित करते थे। जब्त की गई नकद राशि अवैध खनन से कमाई गई थी। पंकज मिश्रा, बच्चू यादव और दाहू यादव के परिसरों से नगदी बरामद नहीं हुई। पंकज मिश्रा और बच्चू यादव दोनों को जांच के दौरान गिरफ्तार किया गया जबकि राजेश यादव उर्फ दाहू यादव का पता नहीं चला है। कई बार समन देने के बाद भी दाहू यादव ईडी के समक्ष हाजिर नहीं हुआ है।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *