Jharkhand : हजारीबाग में कुहासे के कारण बस और ट्रक की टक्कर में चार लोगों की मौत, 35 घायल

हजारीबाग में कुहासे के कारण बस और ट्रक की टक्कर में चार लोगों की मौत, 35 घायल

हजारीबाग, 2 अक्टूबर। झारखंड के हजारीबाग जिले के कटकमसांडी स्थित हरहद घाटी में देशभर से तीर्थयात्रा कर गया से ओडिशा लौट रही साईं राम बस और सब्जी लदे ट्रक के बीच रविवार तड़के 1:30 आमने-सामने की टक्कर हो गयी। इसमें बस में बैठे चार तीर्थयात्रियों की मौत हो गई जबकि 35 तीर्थयात्री घायल हो गये।

बताया जाता है कि हरहद घाटी के पास अंधेरा और कुहासा के कारण घटना घटी है। मृतकों के शव को एंबुलेंस से उनेके पैतृक गांव मयूरभंज और अनुगढ़ भेजा गया। सभी घायलों को उपचार के बाद बस एसोसिएशन के अध्यक्ष जीवन गोप के बस हेमकुंठ से सभी को ओडिशा भेजा गया है।

जानकारी के अनुसार हरहद घाटी के पास साईं राम बस का सामने से आ रहे सब्जी लदे ट्रक टक्कर हो गया, जिससे दोनों गाड़ियां पलट गईं। इस दुर्घटना में बस में सवार तीन यात्रियों की मौत घटनास्थल पर और एक की मौत मेडिकल कॉलेज ले जाने के क्रम में रास्ते में हो गयी। सभी घायलों का इलाज शेख भिखारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चल रहा है।

डीसी नैंसी सहाय, एसपी मनोज रतन चौथे, एसडीओ विद्या भूषण कुमार, विधायक मनीष जायसवाल और नीरज पासवान समेत कई लोग स्वास्थ्य सुविधा एवं भोजन उपलब्ध कराया। सभी घायलों को हेमकुंठ बस से ओडिशा भेजा गया है। सभी शवों का पोस्टमार्टम कर एंबुलेंस से ओडिशा भेजा गया है।

मृतकों में ओडिशा के अनुगढ़ जिला अंतर्गत कनिमा के कटसामुंडा निवासी मोनू बेहरा (62), भासुनीटोला थाना कन्या जिला अनुगढ़ निवासी मेनका प्रधान (70, दानमुडी थाना डासाकी जिला मयूरभंज निवासी अनुष्या नायक (60) और परेरा गांव सिरपदगंज थाना जारीपदा जिला मयूरभंज निवासी पंकजनी परेरा (52) हैं।

शेख भिखारी मेडिकल कॉलेज में 35 घायलों का इलाज चल रहा है। इसमें ओडिशा स्थित अनगुल जिला के तालचर टाउन निवासी महेश्वर महाराना (42), सुमन कुमार राउत (35) रोड जिला डेनकेनाल, विनोद कुमार साहु (65), लता साहु (65), रतो मंजुरीनाथ (48) के अलावा चिंतामणि, निर्मल कुमार समेत कई लोग हैं।

साईं राम बस में सवार तीर्थयात्री सुमन कुमार राउत ने बताया कि 14 सितंबर को ओडिशा से 60 यात्री देश भ्रमण के लिए निकले थे। दिल्ली, काशी, मथुरा समेत कई तीर्थ स्थलों का भ्रमण करने के बाद पिंडदान के लिए गया पहुंचे थे। एक अक्टूबर को दोपहर 2:30 बजे गया से ओडिशा वापस घर जाने के लिए निकले थे।

उन्होंने बताया कि हजारीबाग-चौपारण मार्ग स्थित दनुआ घाटी के पास गैस टैंकर पलटने के कारण जीटी रोड मार्ग को बंद कर दिया गया था। हमलोग अपने बस को वापस डोभी चतरा होकर हजारीबाग आ रहे थे। यहां से रांची होते हुए ओडिशा जाना था। रविवार आधी रात को एकाएक सब्जी लदे ट्रक और बस के बीच टक्कर हो गयी। उस समय बस में सभी लोग सोये हुए थे। टक्कर के बाद बस पलट गया। लोग चिल्लाने और रोने लगे। स्थानीय लोगों की मदद से हमलोगों को अस्पताल लाया गया।

दनुआ घाटी में गैस टैंकर पलटने के कारण बस का रूट बदला

गया से तीर्थयात्री बस चौपारण दनुआ घाटी पहुंचा। वहां बस को जीटी रोड जाम मिला। स्थानीय लोगों ने जानकारी दी कि गैस टैंकर पलट गया है। तीर्थयात्री और बस ड्राइवर आपस में विचार विमर्श के बाद चौपारण से बस को वापस डोभी मार्ग चतरा रूट से हजारीबाग आने का निर्णय लिया। इसी बीच कटकमसांडी से हजारीबाग आने के क्रम में रविवार मध्य रात्रि 1.30 बजे हरहद घाटी के पास बस दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

बस और ट्रक के दोनों चालक इस मार्ग से थे अनभिज्ञ

घायल यात्रियों ने बताया कि रास्ते में कई जगह बस ड्राइवर ने सही मार्ग की जानकारी ली। घटना के समय अंधेरा व कुहासा और पहली बार इस रूट में बस का प्रवेश से रोड की सही जानकारी नहीं मिल पाया। वहीं, हजारीबाग तरफ से जा रहे सब्जी लदे ट्रक का स्पीड काफी था। देर रात सामने से आ रहे बस एकाएक दोनों का आमने-सामने हो गया और इससे घटना घट गयी।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *