Jharkhand : रांची में ड्रोन की निगरानी में हुई जुमे की नमाज

रांची में ड्रोन की निगरानी में हुई जुमे की नमाज

रांची, 17 जून । झारखंड की राजधानी रांची के मेन रोड में दस जून को जुमे के नमाज के बाद हुई हिंसा के बाद शुक्रवार को जुमे के नमाज ड्रोन की निगहबानी में हुई। नमाज को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट रहा। मस्जिदों एवं आसपास के क्षेत्रों में ड्रोन उड़ते दिखे, जिससे किसी प्रकार की संदिग्ध गतिविधि को पकड़कर कार्रवाई की जा सके।

मेन रोड के रत्न टॉकीज चौक के पास स्थित एकरा मस्जिद के पास ड्रोन उड़ाकर पुलिस ने पूरे इलाके का जायजा लिया। नमाज पूरी होने तक ड्रोन से पूरे इलाके पर नजर भी रखी गयी। इसके अलावे जगह जगह ड्राप गेट भी लगाये गए थे, ताकि हर आने-जाने वाले पर पुलिस की नजर रहे।

पुलिस ने दावा किया कि अभी तक शहर में शांति व्यवस्था बहाल है। दरअसल स्थानीय प्रशासन को ऐसा इंटेलिजेंस इनपुट मिला था कि पिछले जुमे की तरह इस जुमे को भी सड़कों पर प्रदर्शन की संभावना है, जिसमें महिलायें भी शामिल हो सकती हैं। इस इनपुट के आधार पर राजधानी में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी थी।

पुलिस के अलावा रैफ और रैप की तैनाती

जिला पुलिस, रैफ और रैप की कंपनियां भी तैनात की गई। पिछले जुमे को हुई हिंसा से सबक लेते हुए सभी जवान दंगारोधी उपकरणों से उन्हें पूरी तरह लैस रखा गया। इसके अलावा वाटर कैनन, वज्र वाहन और फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भी शहर में जगह जगह पर तैनात किए गए।

संवेदनशील जगहों पर सीसीटीवी से नजर

सभी संवेदनशील इलाकों में गतिविधियों की मॉनिटरिंग कण्ट्रोल रूम से की जा रही थी । इसके अलावे संवेदनशील इलाकों में सीसीटीवी लगाये गए। सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर रखी गयी। साथ ही लोगों से अपील की गयी है कि किसी भी अवांछित मैसेज को शेयर न करें। रांची में 3000 से अधिक सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई थी। उनमें 24 सौ से अधिक सशस्त्र जवानों की तैनात थे। रैफ की दो और रैप की तीन कंपनियों के अलावा आंसू गैस के दस्ते की भी तैनाती की गई थी। डीआईजी के अलावा छह आइपीएस अधिकारी, छह डीएसपी, 10 इंस्पेक्टर और 60 दारोगा भी लगाए गए थे।

शांति बनाए रखने की हुई अपील

अंजुमन इस्लामिया और डोरंडा सेंट्रल मोहर्रम कमेटी जैसी संस्थाओं की तरफ से लोगों को जुमे की नमाज के बाद अपने घर जाने को कहा गया । साथ ही रोड पर भीड़ नहीं लगाने की गुजारिश की गई। इतना ही नहीं लोगों से अपील की गई है कि अपने बच्चों को ताकीद करें कि किसी भी तरह के सोशल मीडिया के मैसेज आने पर उसे शेयर ना करें।

अन्य जिलों में भी शांतिपूर्वक पढ़ी गयी नमाज

राज्य के अन्य जिलों में शांतिपूर्वक नमाज अदा किया गया। कहीं से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। जुमे के नमाज को लेकर राज्य के अन्य संवेदनशील जिलों में भी सतर्कता बरती जा रही है। पुलिस मुख्यालय ने राज्य के चार जिले रांची, गिरिडीह, पूर्वी सिंहभूम व हजारीबाग में अश्रु गैस के अलावा दो कंपनी रैफ, छह कंपनी रैप और पांच हजार से अधिक अतिरिक्त सशस्त्र तथा लाठी बल को तैनात कर दिया है।

पुलिस मुख्यालय ने खूंटी रामगढ़ एसपी को विशेष हिदायत दी है।अमन-चैन कायम रखने के लिए पुलिस-प्रशासन ने धर्मगुरुओं से संवाद कायम करते सहयोग मांगा है। दूसरी तरफ पुलिस ने गड़बड़ी करने वालों को चिह्नित करते हुए उनकी गतिविधियों पर निगाह रखना शुरू कर दिया। पुलिस ने संवेदनशील क्षेत्रों पर पैनी निगाह रखते हुए अराजकता फैलाने वालों को सूचीबद्ध कर लिया है। पुलिस उनकी गतिविधियों पर विशेष निगाह रखे हुए हैं। फेसबुक पर कोई भी भड़काऊ पोस्ट डालने पर पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी।

उल्लेखनीय है कि रांची हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई और 20 से अधिक घायल हो गए थे। शहर के छह पुलिस थाना इलाकों में अभी भी धारा 144 लागू है। आम लोगों को परेशानी न हो इसलिए दुकानों को दोपहर 12 बजे से शाम 5 बजे तक खोलने का निर्देश दिया गया है।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.