Jharkhand : सरकार ने मात्र ढाई साल में 17 से 18 लाख पेंशन धारकों को जोड़ा : मुख्यमंत्री

-मुख्यमंत्री ने 53 योजनाओं का किया उद्घाटन, 59 योजनाओं की रखी आधारशिला

रांची, 21 जुलाई । मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि हमारी सरकार सर्वजन पेंशन योजना से सभी बुजुर्ग, दिव्यांग, परित्यक्ता, एकल महिला और विधवा आदि को अभियान चलाकर जोड़ रही है, जो भी इस योजना की पात्रता रखते हैं, वे छूटे नहीं। इसका निर्देश अधिकारियों को दिया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि अलग राज्य बनने के बाद पिछले 20 वर्षों में मात्र छह लाख 50 हजार लोगों को ही पेंशन का लाभ मिल रहा था। वहीं, हमारी सरकार ने मात्र ढाई साल में 17 से 18 लाख पेंशन धारकों को जोड़ने का काम किया है। वे गुरुवार को पुलिस लाइन मैदान दुमका में आयोजित सर्वजन पेंशन योजना, पेंशन वितरण-सह- जागरुकता कार्यक्रम तथा विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पुलिस लाइन मैदान स्थित शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की।

समाज के अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं को पहुंचाने का हो रहा काम

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार हर वर्ग और तबके के हित को ध्यान में रखकर कल्याणकारी योजनाएं चला रही हैं। आपको आपका हक और अधिकार मिले यह सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। हमारा प्रयास है कि राज्य के सबसे अंतिम व्यक्ति तक हमारी आवाज और सरकार की योजना पहुँचे। उन्होंने कहा कि राज्य के हर व्यक्ति के चेहरे पर हमें खुशी देखना है। इसी बात को ध्यान में रखकर सरकार अपनी कार्य योजनाओं को बना रही है और उसे धरातल पर उतारने का काम किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी आने वाला समय में सुखाड़ जैसी स्थिति बन रही है। किसान अभी तक रोपनी भी नहीं कर पाए हैं। जहां खेती-बाड़ी से लेना-देना नहीं है वहां बाढ़ आ गई है और जहां 80 प्रतिशत लोग खेती पर आश्रित हैं वहां एक बूंद पानी भी नहीं मिल पा रहा।

गरीबों को 10 रुपये में दे रहे हैं धोती-साड़ी

मुख्यमंत्री ने कहा कि सोना सोबरन धोती साड़ी योजना के तहत गरीबों को साल में दो बार 10 रुपये में धोती साड़ी दे रहे हैं। उन्होंने सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं से लोगों को अवगत कराया और कहा कि वे इससे जुड़े और दूसरों को भी जुड़ने के लिए प्रेरित करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार व्यवस्थित तरीके से कार्य कर रही हैं। रिकॉर्ड टाइम में हमने जेपीएससी में पदाधिकारियों की नियुक्ति कराई। इस बहाली में 30-32 बच्चे बीपीएल परिवार के थे । उन्हें अफसर बनाकर बीपीएल से बाहर निकालने का काम किया है।

प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी का खर्च देगी सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि 16 जुलाई को रांची में आयोजित एक कार्यक्रम में निजी क्षेत्र के लिए लगभग चयनित 11,000 से ज्यादा युवाओं को जॉब ऑफर दिया गया। बेरोजगारों को आगे बढ़ाने के लिए रास्ते खोले हैं। जल्द ही किसी तरह के कंपटीशन के एग्जाम की तैयारी करने वाले बच्चों के तैयारी के लिए पूरा खर्च सरकार उठाने का काम करेगी, आने वाली पीढ़ी को बेहतर शिक्षा के लिए विदेश भेजने का भी खर्च सरकार उठा रही है।

इन योजनाओं का हुआ उद्घाटन- शिलान्यास

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने 59 योजनाओं का शिलान्यास किया, जिसकी लागत 31920.9849 लाख रुपये है। वहीं, 8191.4133 लाख रुपये लागत की 53 योजनाओं का भी उद्घाटन किया।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.