Jharkhand Government Education Update: बिना परीक्षा 7वीं कक्षा तक के 35 लाख बच्चे होंगे प्रोन्नत

Insight Online News

झारखंड/रांची: झारखंड सरकार ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुये सरकारी विद्यालयों के 7वीं कक्षा में पढ़ रहे लगभग 35 लाख बच्चे इस वर्ष बिना परीक्षा के अगली कक्षाओं में प्रोन्नत किये जायेंगे यह एक बड़ी राहत उन बच्चों के लिए है जो पढ़ाई कोरोना के कारण नहीं कर पाये। उसी निर्णय में सरकार ने फैसला किया है कि सरकारी स्कूलों में कक्षा एक से सात तक की वार्षिक परीक्षा (समेटिव असेसमेंट-2) न तो ऑफलाइन आयोजित की जाएगी और न ही ऑनलाइन।

हालांकि, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग शिक्षकों के माध्यम से बच्चों को घर में ही प्रश्नपत्र भेजकर उनका सामान्य मूल्यांकन करने पर विचार कर रहा है। इस साल आठवीं बोर्ड की परीक्षा भी नहीं होने की संभावना है।

स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के सचिव राहुल शर्मा ने स्वीकार किया है कि स्कूलों के बंद रहने की स्थिति में ऑफलाइन परीक्षा संभव नहीं है। वहीं, बड़ी संख्या में बच्चों के पास डिजिटल सुविधाएं उपलब्ध नहीं होने से ऑनलाइन परीक्षा लेना भी मुश्किल है। उनके अनुसार, विभाग प्रयास कर रहा है कि बच्चों का किसी तरह मूल्यांकन कराकर उन्हें अगली कक्षाओं में प्रोन्नत किया जा सके।

शीघ्र ही इस संबंध में स्कूलों को निर्देश दे दिया जाएगा। उनके अनुसार, इस बार सत्र में देरी भी हो सकती है। बता दें कि विभाग ने इसी साल फरवरी माह में मिड टर्म असेसमेंट के रूप में इस तरह का मूल्यांकन बच्चों का कराया था। इसके तहत शिक्षकों के माध्यम से प्रश्न पत्र बच्चों को घर पहुंचा दिए गए थे तथा बच्चे उसे हल कर स्कूलों में जमा किए थे। यह मूल्यांकन एक तरह से ओपेन बुक एग्जाम की तरह हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *