Jharkhand : हेमंत कैबिनेट का फैसला : चार से बढ़कर पांच करोड़ हुई विधायक निधि

-कैबिनेट की बैठक में 29 प्रस्तावों पर लगी मुहर

रांची, 29 जुलाई । झारखंड मंत्रालय में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में शुक्रवार को कैबिनेट की बैठक हुई। मंत्रिमंडल ने 29 प्रस्तावों पर मंजूरी दी है। कैबिनेट की बैठक में विधायक निधि को चार से बढ़ाकर पांच करोड़ किया गया है। यह जानकारी कैबिनेट सचिव वंदना डाडेल ने दी।

उन्होंने बताया कि 2018 में खोले गए आठ पॉलिटेक्निक कॉलेजों के संचालन की जिम्मेदारी प्रेझा फाउंडेशन को दी गई है। प्रेझा फाउंडेशन खूंटी, लोहरदगा, पलामू, चतरा, जामताड़ा, गोड्डा, बगोदर और हजारीबाग के पॉलिटेक्निक कॉलेजों का संचालन करेगा। इसके अलावा ड्यूटी से गायब गोमिया के दो डॉक्टर संगीता कुमारी ओर आशुतोष कुमार को बर्खास्त कर दिया गया है। दोनों 2015 से ही ड्यूटी से गायब हैं।

डाडेल ने बताया कि जमशेदपुर का एमजीएम अस्पताल 500 बेड का बनेगा। इसके लिए 03 अरब 96 करोड खर्च किये जायेंगे। इसी तरह मनरेगा में संविदा पर तैनात क्षेत्रीय कर्मचारी का मानदेय बढ़ाया गया है। ब्लॉक प्रोग्राम ऑफिसर को 19500 के बदले अब 23, 140 रुपये मानदेय मिलेगा। पांच साल से अधिक अनुभव वाले को पहले 20 हजार मिलता था, अब उन्हें 23,700 रुपये मिलेगा। इसके अलावा गैर शैक्षणिक डॉक्टरों की सेवा अवधि 65 वर्ष से बढ़ाकर 67 वर्ष की गई। कैबिनेट की बैठक में पत्रकार बीमा योजना को घटनोत्तर स्वीकृति और राज्य में ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछाने की नीति निर्धारण के लिए दिशा-निर्देश की स्वीकृति दी गई।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.