Jharkhand: भारतीय वन सेवा के बड़े ऑफिसर की अमानुषिक एवं गंदी करतूत बनीं चर्चा का विषय

Insightonlinenews Team

  • बकाया 8 हजार मांगने आई दाई को मुख्य वन संरक्षक संपत कुमार ने अपने दफ्तर में जूते से पीटा…गुस्से में दाई समर्थकों ने अफसर की चप्पलों से धुनाई कर दी

रांची। डोरंडा स्थित वन भवन में सोमवार दोपहर दो घंटे जमकर हंगामा हुआ। बकाया 8900 रुपए लेने पहुंची दाई की सीसीएफ संपत कुमार (चीफ कंजरवेटर ऑफ फॉरेस्ट) ने जूते से पिटाई की। चोटिल दाई राखी देवी ने जब घटना की जानकारी परिजनों को दी तो 25-30 की संख्या में लोग ऑफिस पहुंचे और सीसीएफ को उनके चैंबर में घेर लिया। इसके बाद दाई और उसके साथ आए लोगों ने जूतों से पिटाई की। उनके ऊपर कुर्सियां और पानी भी फेंकी।

पूरी घटना के दौरान वहां पुलिस भी मौजूद थी, लेकिन इसी हंगामे को रोक नहीं सकी। महिलाओं के गुस्से को देखते हुए डोरंडा पुलिस ने सीसीएफ को भीड़ से निकाला और दाई को भी अपने साथ थाने ले गई। वहां दोनों पक्षों की ओर से थाने में लिखित शिकायत की गई। डोरंडा थानेदार शैलेश कुमार ने बताया कि दोनों पक्षों ने आपसी रजामंदी के बाद सुलह कर लिया है।

महिला राखी देवी ने बताया कि वह वन अधिकारी संपत कुमार के घर में मेड का काम करती थीं। 5 माह पहले संपत कुमार ने उसे काम से निकाल दिया था। उसके 8900 रुपए संपत कुमार के पास बकाया थे। जब वह उनके पास पैसे मांगने जाती थी, वह यह कह कर लौटा देते थे कि 10 दिन बाद आना तो 15 दिन बाद आना। 5 माह से लगातार चक्कर लगाकर वह परेशान हो गई थी।

सोमवार को उनके चेंबर से वह रोती हुई निकली। रोता हुआ देख लोगों ने पूछा कि क्यों रो रही है। इसके बाद उसने बताया कि उसे संपत कुमार ने जूता से मारा है। फिर राखी देवी ने अपने परिजनों को इसकी जानकारी दी। मारपीट की जानकारी मिलते ही करीब 25 से 30 की संख्या में राखी देवी के जानने वाले वहां पहुंच गए।

लोगों की भीड़ की खबर मिलते ही वहां डोरंडा थाना की पुलिस पहुंच गई थी। इसके बाद भी दाई समर्थक अधिकारी पर जूते चला रहे थे। इस घटना से विशेषकर झारखंड में कार्यरत समस्त उच्च पदाधिकारियों को भी बहुत धक्का लगा है तथा राजनीतिक गलियारों और आवाम में यह अशोभनीय घटना बहुत चर्चित नजर आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *