झारखंड: बेरमो विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस को पछाड़ना भाजपा के लिए कठिन !

Insightonlinenews Team

भाग – 1

रांची। झारखंड में भी बिहार विधानसभा चुनाव के साथ खाली हुईं 2 सीटों बेरमो एवं दुमका में अक्टूबर के लगभग चुनाव होने हैं। बेरमो विधानसभा की सीट कांग्रेस नेता राजेंद्र सिंह के निधन से खाली हुई है और दुमका विधानसभा सीट को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने 2019 के चुनाव में दों सीटों में विजय प्राप्त करने बाद खाली की है, इन्हीं दो सीटों पर बिहार के साथ उपचुनाव होने हैं।

दुमका एवं बेरमो दोनों ही सीटें झामुमो, कांग्रेस और राजद गठबंधन के खाते में हैं, तथा उपचुनाव में इन सीटों पर भाजपा की भी नजर है। झारखंड में भाजपा के शीर्ष नेताओं ने अपने अलग-अलग तिथियों पर दिये गये बयानों में दोनों सीटों को जीतने का दावा किया है, उनके दावे 2014 एवं 2019 में हुये मतदान के आंकड़ों को क्या तोड़ पायेंगे ?

बेरमो विधानसभा: 2019 में कांग्रेस ने बीजेपी को 25172 मतों के अंतर से हराया, यदि बीजेपी के मतों में 2019 में मिले आजूस और जेवीएम जो आज बीजेपी के साथ हैं के मतों को भी जोड़ा जाये तो भी कांग्रेस उम्मीदवार के मतों से लगभग 7 हजार मतों के अंतर से पीछे हैं। वहीं 2014 और 2005 में यह सीट भाजपा के खाते में थी, वहीं 2009 में इस सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार को विजय हासिल हुई थी। इस सीट पर बारी-बारी से कांग्रेस और भाजपा का कब्जा होता रहा है।

2019 के चुनाव को लगभग छह महीने हुये हैं और इन छह महीनों में झामुमो, कांग्रेस और राजद गठबंधन की सरकार की भी उपलब्धि का उपचुनाव में मूल्यांकण होगा। वर्तमान 2019 के आंकड़ें कहते हैं कि भाजपा की डगर बहुत कठिन है।

बदले हुए परिपेक्ष में जबकि भाजपा की कमान बाबूलाल मरांडी जैसे सशक्त नेतृत्व के हाथों में है वहीं भाजपा को आजसू गठबंधन का भी समर्थन है, क्या भाजपा बेरमो सीट को अपने पाले में ले पायेगी, यह एक बड़ा सवाल है ?

बाबूलाल मरांडी जिन्होंने हाल ही में हुये राज्यसभा चुनाव में अपनी राजनीतिक सूझबूझ और झमता का परिचय दिया, अब उनके लिए आवाम और जनमानस के मतों को भाजपा के पक्ष में मोड़ने की बेरमो विधानसभा चुनाव में एक बड़ी चुनौती होगी। क्या इस परीक्षा में भी बाबूलाल मरांडी कामयाबी हासिल कर पायेंगे!

बेरमो विधानसभा सीट झामुमो, कांग्रेस और राजद गठबंधन के लिए भी एक प्रतिष्ठा का प्रश्न है, अपने गठबंधन के सहयोगियों के सहयोग से इस सीट की जीत के प्रति कांग्रेस आश्वस्त है, तथा 2019 के मतदान के आंकड़े भी इस बात की कांग्रेस के लिए पुष्टि करते हैं।

इनसाइट ऑनलाइन न्यूज का दुमका चुनाव पर विश्लेषण जारी….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *