Jharkhand : शहरी स्वच्छता में झारखंड का फिर लहराया परचम

शहरी स्वच्छता में झारखंड का फिर लहराया परचम

-स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में झारखंड बना सेकंड टॉपर

-केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री ने झारखंड को किया सम्मानित

-सूडा निदेशक अमित कुमार ने प्राप्त किया सम्मान

-अन्य श्रेणियों में झारखंड के बुंडू और चाईबासा को भी मिला सम्मानित

रांची, 1 अक्टूबर । नई दिल्ली स्थित तालकटोरा स्टेडियम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की मौजूदगी में केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में झारखंड को 100 शहरी निकायों वाले राज्यों में देश के सेकेंड टॉपर राज्य का सम्मान प्रदान किया। राज्य सरकार की ओर से नगर विकास एवं आवास विभाग अंतर्गत राज्य शहरी विकास अभिकरण के निदेशक अमित कुमार ने इस सम्मान को प्राप्त किया। इस अवसर पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ,केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी एवं केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य विभाग के सचिव मनोज जोशी ने झारखंड सरकार, राज्य के नगर विकास विभाग और प्रदेश के नागरिकों को इस सम्मान के लिए बधाई दी।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में झारखंड को सेकेंड टॉपर अवार्ड के साथ कुछ अन्य शहरों को भी विभिन्न कैटेगरी में सम्मानित किया गया है

-पूर्वी जोन के 50000 से 100000 आबादी वाले नगर निकायों में चाईबासा को बेस्ट सिटिजन फीडबैक के लिए सम्मानित किया गया।

-पूर्वी जोन के 15000 से 25000 आबादी वाले नगर निकायों में बुंडू को बेस्ट सिटिजन फीडबैक के लिए सम्मानित किया गया।

इंडियन स्वच्छता लीग में भी झारखंड के शहर सम्मानित

केन्द्र द्वारा देशभर के शहरों में 17 सितंबर 2022 को कराए गए इंडियन स्वच्छता लीग में भी झारखंड के तीन नगर निकायों को सम्मानित किया गया है। तालकटोरा स्टेडियम में ही केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने झारखंड के जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र,मानगो और मेदनीनगर को इंडियन स्वच्छता लीग में बेहतर प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया । इस मौके पर जमशेदपुर और पलामू के उपायुक्त मौजूद रहे।

शहरी स्वच्छ के क्षेत्र में झारखंड का प्रदर्शन

उल्लेखनीय है कि स्वच्छ सर्वेक्षण 2016 में झारखंड की स्थिति बहुत प्रशंसनीय नहीं थी पर लगातार स्वच्छ सर्वेक्षण 2017,2018,2019,2020,2021और 2022 में राज्य की जनता के सहयोग और शहरी निकायों तथा राज्य सरकार के कुशल मार्गदर्शन में राज्य नें स्वच्छता के क्षेत्र में कई सम्मान प्राप्त किए हैं। वर्तमान समय में माननीय मुख्यमंत्री के कुशल मार्गदर्शन और सफाईकर्मियों के प्रति संवेदनशीलता का ही नतीजा है कि आज राज्य देश के टॉप राज्यों में शामिल है ।

-स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में विभाग और निकायों द्वारा उठाए गए कुछ महत्वपूर्ण कदम।

-स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 से पहले सभी निकायों में बैठक,कार्यशाला और कैंपेन आयोजित हुआ।

-समाज के हर वर्ग की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए कार्यक्रम चलाए गए।

-डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन सुनिश्चित कराया गया।

-सेग्रिगेशन एंड प्रोसेसिंग ऑफ वेस्ट को प्राथमिकता दी गयी।

-पीट कंपोस्टिंग एंड ऑनसाइट कंपोस्टिंग के लिए नगर निकायों और नागरिकों को प्रोत्साहित किया गया।

-रीसाइक्लर्स को नगर निकायों के साथ जोड़ा गया।

-कैरी बैग को वैन किया गया और सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल में कमी लायी गयी।

-स्वच्छता ऐप के माध्यम से सफाई से जुड़ी समस्याओं का त्वरित निदान किया गया।

नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे ने इस सफलता के लिए मुख्यमंत्री के कुशल मार्गदर्शन और नागरिकों के सहयोग को श्रेय देते हुए विभाग से अगले सर्वेक्षण में और बेहतर परफॉर्मेंस की उम्मीद जतायी है। राज्य शहरी विकास अभिकरण और स्वच्छ भारत मिशन शहरी के मिशन डायरेक्टर श्री अमित कुमार ने कहा है कि यह क्षण झारखंड के लिए गौरव का क्षण है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के मार्गदर्शन और सचिव नगर विकास एवं आवास विभाग विनय कुमार चौबे के सहयोग से यह उपलब्धि हासिल हो सकी है। उन्होंने सभी नगर निकायों के पदाधिकारी, कर्मी, सफाईकर्मी और नागरिकों को बधाई दी और कहा कि इस सम्मान से आगे भी बेहतर कार्य की प्रेरणा मिलेगी।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *