Jharkhand JMM : कई मुद्दों पर जेएमएम ने बीजेपी को घेरा, नहीं लागू होगा किसान विरोधी कानून

रांची: जेएमएम के महासचिव सुप्रीयो भट्टाचार्य ने एक बार फिर केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि जब किसी राष्ट्रीय नेता का जन्मदिन होता है, तो कुछ विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है और वो निर्णय लेते हैं वो लोक कल्याणकारी होती है. परन्तु 17 सितंबर को पीएम मोदी के जन्मदिन पर संसद में किसानों से जुड़ी जो अध्यादेश लोकसभा से पारित किया गया है.

सरकारी तंत्र का हो रहा उपयोग

इसके कारण पूरे देश में किसान सड़क पर उतर रहे हैं. कानून लेकर केन्द्र की सरकार ने राज्यों से बात तक नहीं किया. सीधे लोकसभा में पारित कर दिया, इस काला कानून का हम विरोध करते हैं, हम अपने राज्य में इसे लागू नहीं करेंगे. जेएमएम महासचिव सुप्रीयो भटाचार्य ने कहा, पीएम अब बौखला गए हैं, उन्होंने सरकारी तंत्र का उपयोग बिहार के चुनाव के लिए किया है, एक चुनावी रैली के रुप में किया. पिछले चुनाव में भी बिहार को सवा सौ लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा की गई थी, लेकिन  आज तक नहीं मिले.

बिहार के मुख्यमंत्री के नियत में खोट

पीएम ने कहा था नीतीश कुमार के डीएनए में खोट है. नीतीश जी ने इस बात से पूरे बिहार को जोड़ा था और साथ बिहार की अस्मिता पर हमला बताया था पर, नीतीश कुमार का डीएनए, एनडीए में आते ही बदल गया. नीतीश कुमार का मंत्र रहा है ऐसा कोई सगा नहीं जिसको नीतीश ने ठगा नहीं. केवल सीएम पद के लिए उनका सारा प्रयोजन होता है.

कानून के विरोध में उतरे किसान

वहीं उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि उनको बताना पड़ेगा कृषि बिल का अपने समर्थन किया तो बिहार के खेत में बिग बाजार ,रिलाइंस फ्रेस ,सुपर मार्ट घुसेगा. किसानों को आभास हो गया है कि, केन्द्र और राज्य सरकार लगातार उनको कुचलने, बर्बाद करने और साथ ही आर्थिक स्थिति से कमजोर करने लगी, इसलिए तो कानूनी शक्ल देने का काम लोकसभा में हुआ है.

Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *