Jharkhand : पारंपरिक हर्षोल्लास के साथ मनाया गया भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक त्योहार करमा

प्रेम और भाईचारा बढ़ाने का संदेश देता है करमा त्योहार : पुलिस अधीक्षक

खूंटी, 6 सितंबर। पर्यावरण संरक्षण और शांति व खुशहाली तथा भाई-बहन के प्रेम के प्रतीक का त्योहार करमा मंगलवार को धूमधाम से मनाया गया। गोधुली बेला में पाहनों और पुजार द्वारा अखाड़ा में करम की डाली गाड़ी गयी। लोगों के आंगनों में भी पाहनों द्वारा करम डाल गाड कर पूजा-अर्चना की गयी। अखाड़ों में पाहनों द्वारा धार्मिक अनुष्ठान संपन्न कराये गये, जबकि गैर आदिवासियों(सदानों) के घरों में ब्राह्मणों ने पूजा-पाठ कराये। शाम होते ही छोटी-छोटी बच्चियां और युवतियों पारंपरिक वेशभूषा में करम राजा की पूजा के जलए पहुंच गयी। शाम से पूजा-अर्चना का दौर शुरू हुआ, जो रात भर जारी रहा।

मांदर, ढोल और नगाड़ों की थाप पर गांव के लोग रात भर झूमते रहे। प्रमुख आदिवासियों के समूह द्वारा पूर्व वर्षों की भांति इस बार भी शहर के करम अखड़ा में सामूहिक करम महोत्सव का भव्य आयोजन किया गया। सामूहिक करम महोत्सव में जिला परिषद अध्यक्ष मसीह गुड़िया, प्रभारी अनुमंडल पदाधिकारी जितेंद्र सिंह मुंडा, भाजपा नेत्री प्रिया मुंडा सहित बड़ी संख्या में आदिवासी समुदाय के महिला, पुरुष व बच्चे और अन्य गणमान्य लोग शामिल हुए। दूसरी ओर पुलिस केंद्र में भी जिला पुलिस परिवार द्वारा करम महोत्सव का शानदार आयोजन किया गया।

पुलिस केंद्र में आयोजित करम महोत्सव में पुलिस अधीक्षक अमन कुमार, सीआरपीएफ 94 बटालियन के कमांडेंट राधेश्याम सिंह, द्वितीय कमान अधिकारी पीआर मिश्रा, प्रभारी अनुमंडल पदाधिकारी जितेंद्र मुंडा, एसडीपीओ अमित कुमार, मुख्यालय डीएसपी जयदीप लकड़ा सहित अन्य पुलिस अधिकारी व जवान शामिल हुए। महोत्सव के दौरान आयोजित नाचगान कार्यक्रम में एसपी सहित अन्य अधिकारियों ने ढोल बजाकर नृत्य दलों का उत्साहवर्धन किया। मौके पर एसपी ने सभी को करमा पर्व की शुभकामनाएं दी और कहा कि पावन करमा त्योहार प्रेम व भाईचारा बढ़ाने का संदेश देता है।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *