Jharkhand Minister : कोरोना संक्रमण रोकने के लिए टीकाकरण बेहद महत्वपूर्ण , रामेश्वर उरांव

Insight Online News

गुमला, 04 मई : कोरोना के बढ़ते संक्रमण एवं उसकी रोकथाम के मद्देनजर मंगलवार को योजना सह वित्त विभाग, वाणिज्यकर विभाग एवं खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामले के मंत्री रामेश्वर उरांव ने गुमला जिला का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा निरंतर किए जा रहे कार्यों के अद्यतन स्थिति की समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

आईटीडीए भवन परिसर स्थित उपायुक्त के कार्यालय में आयोजित बैठक में रामेश्वर उरांव ने जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने की दिशा में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा कर अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त की।
समीक्षा के क्रम में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा ने तीन मई तक जिले में किए गए सैम्पल संग्रहण, कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या इत्यादि के आंकड़े प्रस्तुत किए। उन्होंने बताया कि तीन मई तक जिले में कुल 2 लाख 22 हजार 320 लोगों का सैम्पल संग्रहण किया गया। इसमें से दो लाख 16 हजार लोगों का रिपोर्ट निगेटिव पाया गया है। जबकि 5816 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव पाया गया है। उन्होंने बताया कि 5816 कोरोना संक्रमित मरीजों में से 3905 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ हो चुके हैं तथा 50 कोरोना संक्रमित मरीजों को उच्चतम ईलाज के लिए अस्पतालों में भर्ती किया गया है।

रामेश्वर उरांव ने कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के उद्देश्य से अधिक से अधिक कोरोना जांच सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। रामेश्वर उरांव ने उपायुक्त से जिले में होम आईसोलेशन में निवासरत कोरोना संक्रमित मरीजों की जानकारी प्राप्त की। उपायुक्त ने बताया कि वर्तमान में जिले में कुल 1841 कोरोना संक्रमित मरीज होम आईसोलेशन में निवासरत हैं। इन मरीजों के समुचित इलाज को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा सहिया के माध्यम से मरीजों के घर-घर जाकर उनहें मेडिकल किट, मास्क, सैनेटाईजर, ग्लब्ज आदि मुहैया कराए जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि अबतक स्वास्थ्य विभाग द्वारा कुल 25 हजार मेडिकल किट तैयार किए गए हैं। वर्तमान में जिले में कोरोना संक्रमण के कुल 1891 ऐक्टिव मामले हैं। इसमें से 1841 कोरोना संक्रमित मरीज होम आईसोलेशन में तथा शेष 50 मरीजों को अस्पतालों में भर्ती किया गया है।

उपायुक्त ने जिले के कोविड अस्पतालों में उपलब्ध सामान्य बेड, ऑक्सिजन युक्त बेडों की जानकारी साझा करते हुए बताया कि जिले के सरकारी अस्पतालों में कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों के समुचित ईलाज के लिए कुल 327 सामान्य बेड उपलब्ध हैं। इसमें से 28 बेडों पर कोरोना संक्रमित मरीजों को रखा गया है। वहीं ऑक्सीजन युक्त बेडों की संख्या 111 है । इसमें से 19 बेडों पर कोरोना संक्रमण से प्रभावित गंभीर मरीजों को रखा गया है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिले में 120 ऑक्सीजन सिलिंडर मौजूद हैं। वहीं सदर अस्पताल में कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों के ईलाज में उपयुक्त निर्बाध ऑक्सीजन सुविधा के लिए पाईपलाइन बिछाने का कार्य अपने चरम पर है। अबतक आठ जम्बो सिलिंडरों को अधिष्ठापित कर लिया गया है। एक सप्ताह में शेष कार्य पूर्ण कर लिए जाएंगे।

रामेश्वर उरांव ने कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते प्रकोप तथा आनेवाले दिनों में इसके प्रसार को नियंत्रित करने की दिशा में टीकाकरण की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने बताया कि कोरोना की तीसरी लहर के लिए भी हमें अपनी तैयारियां पुख्ता करने की जरूरत है। इसके लिए बड़े पैमाने पर टीकाकरण को बढ़ावा देने की आवश्यकता है। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में टीकाकरण बेहद प्रभावी है। उन्होंने जिले में अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने आमजनों में टीकाकरण के प्रति फैलने वाले भ्रम को दूर करने पर विशेष जोर दिया।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *