Jharkhand : नया और सशक्त झारखंड बनाने के संकल्प के साथ बढ़ रहे हैं आगे : हेमंत सोरेन

मुख्यमंत्री ने गिरिडीह से आपकी योजना-आपकी सरकार- आपके द्वार कार्यक्रम का किया शुभारंभ

रांची, 12 अक्टूबर । मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को कहा कि नया और सशक्त झारखंड बनाने के संकल्प के साथ हम आगे बढ़ रहे हैं। राज्य और राज्यवासियों के विकास और खुशहाली के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। वे गिरिडीह में आप की योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार कार्यक्रम के समारोह को संबोधित कर रहे थे।ट

उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के जरिये राज्य के हर गांव और पंचायत को कल्याणकारी योजनाओं से आच्छादित करना है और हर व्यक्ति को इन योजनाओं से जोड़कर इसका लाभ सुनिश्चित कराना है। इसमें आपका सहयोग बहुत जरूरी है। मौके पर सीएम ने सावित्रीबाई फूले किशोरी समृद्धि योजना का भी शुभारंभ किया।

हर दिन मॉनिटरिंग, हर सप्ताह समीक्षा होगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के दूसरा चरण की निगरानी पोर्टल के जरिये की जायेगी । इस पोर्टल पर हर जिले के पंचायतों में लगने वाले शिविर की जानकारी हर दिन अपलोड होगी। हर सप्ताह में इसकी समीक्षा भी की जायेगी। इसके अलावा वे खुद विशेष शिविर में मिले आवेदनों और उसके निष्पादन की समीक्षा करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार हर वर्ग और हर तबके को ध्यान में रखकर कल्याणकारी योजनाएं बना रही हैं और उसे सफलतापूर्वक धरातल पर उतारा जा रहा है। आप इन योजनाओं की जानकारी लें और दूसरों को भी इससे अवगत कराएं ताकि राज्य का हर व्यक्ति इन योजनाओं से लाभान्वित हो सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने यूनिवर्सल पेंशन स्कीम लागू की है। इसके माध्यम से सभी बुजुर्गों, विधवाओं, एकल महिला, परित्यक्ता को पेंशन सुनिश्चित किया जा रहा है। इतना ही नहीं, हर महीने की 5 तारीख तक इन्हें पेंशन मिले, इस बाबत अधिकारियों को निर्देश दिए जा चुके हैं ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों को बेहतर और गुणवत्ता युक्त शिक्षा मिले, यह सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल है। उन्होंने कहा कि सभी जिलों में मॉडल स्कूल खोले जा रहे हैं, जहां निजी विद्यालयों की तर्ज पर बच्चों को शिक्षा दी जाएगी। विदेशों में उच्च शिक्षा के लिए शत प्रतिशत छात्रवृत्ति दी जा रही है । कल्याण विभाग के छात्रावासों का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। यहां अब रसोईया, चौकीदार की व्यवस्था तो होगी ही, साथ ही अनाज भी सरकार उपलब्ध करायेगी।

सीएम ने कहा कि सरकार ने झारखंड बोर्ड के साथ सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के टॉपर्स को भी सम्मानित करेगी। इसके तहत पहले टॉपर को तीन लाख, दूसरे को दो लाख और तीसरे टॉपर को एक लाख रुपए पुरस्कार के रुप में दिए जाएंगे । मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति की राशि में दोगुना से ज्यादा इजाफा किया है। ताकि, विद्यार्थी बेहतर तरीके से पढ़ाई कर सकें।

खेल और खिलाड़ियों के लिए भी योजनाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि खेलों के माध्यम से भी झारखंड के युवा आगे बढ़े, इसके लिए सरकार ने कई योजनाएं शुरू की हैं। हर गांव -पंचायत में खेल मैदान बनाए जा रहे हैं तो प्रखंड में स्टेडियम का निर्माण हो रहा है । वही खिलाड़ियों की सीधी नियुक्ति की गई है। हर जिले में खेल पदाधिकारी बहाल कर लिए गए हैं। खिलाड़ियों को प्रशिक्षण के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। हमारी कोशिश है कि झारखंड खेलों के क्षेत्र में भी परचम लहराए।

झारखंड का किसान भगवान भरोसे नहीं रहेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में किसानों के हित में सरकार लगातार कार्य कर रही है । आने वाले दिनों में खेती के लिए किसान भगवान भरोसे नहीं रहे, सरकार सिंचाई योजनाओं पर विशेष कार्य करने जा रही है। हमारी कोशिश है कि हर खेत में सालों भर पानी रहे, ताकि हमेशा खेतों में फसलें लहलहाती रहे। इसके साथ किसानों को समय पर खाद और बीज उपलब्ध कराने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए जा चुके हैं ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड की एक बड़ी आबादी गांवों में रहती है। ऐसे में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देकर ही राज्य को विकास के रास्ते पर आगे ले जाया जा सकता है। इसी मकसद से ग्रामीणों खासकर किसानों और मजदूरों के कल्याण और हित में कई योजनाएं बनाई गई हैं । ग्रामीणों से आग्रह है कि इन योजनाओं का लाभ ले और दूसरों को भी इन योजनाओं से जोड़ें, ताकि राज्य का सर्वांगीण विकास हो सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तालाब-डोभा में डूबने, हाथी के रौंदने, सांप- बिच्छू के काटने या किसी अन्य आपदा में मौत होने पर उसके परिजनों या आश्रितों को सरकार की ओर से चार लाख रुपए दिया जायेगा। अब आपदा के आधार पर मुआवजे की राशि में किसी भी प्रकार का अंतर नहीं रहेगा।

48 योजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास, लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों का वितरण

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने लगभग 3 अरब 91 करोड़ रुपये की लागत से 48 योजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास किया। इसमें तीन योजनाओं का उद्घाटन और 45 योजनाओं की आधारशिला रखी। इसके अलावा विभिन्न विभागों द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं के 5 लाख 22 हज़ार 356 लाभुकों के बीच 976. 56 करोड़ रुपए की परिसंपत्ति का वितरण किया।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *