Jharkhand News : बिहार में भाजपा धाराशाही होने को है- हेमंत सोरेन

दुमका, 12 अक्टूबर । झारखंड प्रदेश में विधानसभा के दो उपचुनाव कएक दुमका  एवं दूसरो बेरमों में हो रहा  है। दुमका में जीते हुए उम्मीदवार के रूप में मैने  सीट छोड़ा था इस लिए उपचुनाव हो रहा  है। बेरमों के तत्कालीन कांग्रेस विधायक स्व राजेंद्र प्रसाद के निधन होने के वजह से वहां उपचुनाव हो रहा है। उक्त बातें सीएम हेमंत सोरेन ने खिजुरिया स्थित पार्टी सुप्रीमों शिबू सोरेन के आवास पर प्रेसवार्ता आयोजित कर सोमवार को कही। उन्होंने कहा कि आज पहला नामांकन  विधानसभा उपचुनाव  को लेकर हुआ है। जिसमें प्रत्याशी के रूप में हमारी सरकार के घटक दलों का सहयोग प्राप्त करते हुए बसंत सोरेन ने नामांकन किया है। उसी प्रकार बेरमो विधानसभा अंतर्गत 14 अक्टूबर को नामांकन होना है और उसमें गठबंधन साथियो का सहयोग प्राप्त स्व राजेंद्र सिंह के बड़े सुपुत्र जयमंगल सिंह को मैदान में उतारने जा रहे है। संयोग से दोनो प्रत्याशी यहां उपलब्ध है। नामांकन की प्रक्रिया दुमका की पूर्ण कर ली गई है। यह नामांकन प्रक्रिया 19 अक्टूबर तक संपन्न किया जायेगा । उसके बाद चुनावी प्रचार-प्रसार का कार्यक्रम प्रारंभ की जायेगी। सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि दुमका चुनाव राज्य के चुनाव के लिए एक अलग अपनी वजूद रखता है। सबकी नजर दुमका विधानसभा उपचुनाव पर होगी। प्रतिद्वंदी और विरोधी खेमे से कौन-कौन आते है। यह समय उपरांत पता चलेगा। चुनावी मैदान सजना प्रारंभ हो चुका है। उसके लिए राज्य के गठबंधन के सहयोगी इन दोनों सीटो को जीतते आये है। इस बार भी रिकार्ड मतों के साथ जीत सुनिश्चित की जायेगी। इस अवसर पर सीएम ने दोनों उम्मीदवारों को शुभकामनाएं दी।

विपक्ष बोरो प्लेयर से चुनावी खेल मैदान में हैः सीएम

भाजपा पर प्रहार करते हुए सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि चिंता मत किजिए इनके पापो का घड़ा पहले ही फूट चुका है। रघवुर दास जी पांच साल तक यही राग अलापे रहे कि विपक्ष का सुफरा साफ हो जायेगा। लेकिन अभी हालत यह है विपक्ष में कि अभी विपक्ष का नेता तक नहीं मिल रहा है। जिनका सर ही ना हो, उनका धड का क्या उपयोग। अब बोरो प्लेयर से इनका काम चल रहा है। भाजपा के आरोपो पर जबाब देते हुए सीएम सोरेन ने कहा कि आपको मालूम होना चाहिए कि विधानसभा सत्र बहुत कम अवधि के लिए आहूत हुआ था। आपने देखा होगा कि विपक्ष के पास कितने मुद्दे थे। छह माह और साल भर पुराने पेपरो के कतरन को छोड़ कोई भी एक मुद्दा बताईए की जिसको लेकर कहा जा सके कि राज्य में विपक्ष सक्रिय है। मेरा यह मानना है कि राज्य और देश के अंदर विपक्ष की भूमिका बहुत अहम है। उनका सम्मान होना चाहिए। लेकिन विपक्ष झारखंड में पूरी तरीके से अपना वजूद खो चुकी है। दिवालियापन की स्थिति है। आज खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे, यही हिसाब-किताब है। बिहार चुनाव में महागठबंधन से सीटो के बटवारे और चुनाव प्रचार को लेकर सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि रणनीति कई तरीके से बनते है। जंगल में वार अलग तरीके से होता है, मैदानी इलाका में वार अलग तरीके से होता है, समुंद्र में वार अलग तरीके से होता है और अंतरिक्ष में युद्ध अलग तरीके से होता है।

सीएम ने कहा कि भाजपा ने आज जिस तरीके से राजनीति परिभाषा बदलने का प्रयास किया है। हमलोग हर कोने से जबाब देने के लिए सक्षम है। आप बिहार में भी देखेंगे कि भाजपा की समूह धाराशाही होने को है। महागबंधन के पक्ष बिहार में प्रचार को लेकर कहा कि इस विषय पर हमलोग अपने रणनीति को लेकर आगे बढ़ेंगे। इससे आगे क्या कहेंगे। एनडीए गठबंधन पर उपविधानसभा चुनाव में आजसू फैक्टर पर तंज कसते हुए सीएम सोरेन ने कहा कि आप सवाल कैसे-कैसे पूछते हो। आजसू और कोई फैक्टर। उन्होंने कहा कि चुनाव के कोड ऑफ कंडक्ट के तहत मैं यहां बैठा हूं। सरकार अभी हमलोग चला रहे है। राज्य में अपराधिक गतिविधयों पर कहा कि आईना दिखाना चाहूं, तो इनको जबाब नहीं मिलेगा। अगर आपको जानकारी लेनी है, तो हमलोग अपने मुंह मियां मिठ्ठू नहीं बनते। सरकार के वेबसाईट में जाकर देखिए और सवाल किजिए। यह भारत सरकार नहीं है। जहां पर देश दुनिया में हो रहे गतिविधि देश-दुनिया में हो रहे गतिविधि, गलत सही बताने वाली संस्था होते है। देश में विधि व्यवस्था, देश में विदेशी संबंध आदि का आंकड़ा जारी करने वाली सभी संस्था को बंद कर रखा है। राज्य में ऐसा नहीं है। आपलोग पता करें कि उनके सवाल में कितनी सच्चाईयां है, तब आपको पता चलेगा। उन्होंने केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि मुझे लगता है कि पुरे देश को गिरवी रखने काम किया है। पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और बाबुलाल मरांडी के चुनावी दौरे को लेकर कहा कि यहां बैठेंगे, घुमेंगे और जायेगे। चुनावी मुद्दे को लेकर कहा कि कोरोना के वजह से व्यवसाय और समान्य गतिविधियों पर बहुत फर्क पड़ा है। उन स्थितियों पर मरहम लगाने का काम केंद्र सरकार का है। जिस तरीके से भारत सरकार ने लगातार नितियां बनाना प्रारंभ किया है। किसान नीति हो या निजीकरण हो। मुझे लगता है कि आने वाले समय में पूरा देश को गिरवी न रख दिया जाये। व्यापारियों की पूरी टोली देश को बेचने में लगी है। सीएम हेमंत सोरेन ने बसंत सोरेन के मंत्रीमंडल में शामिल करने पर कहा कि आपका प्रस्ताव अतिशीघ्र संज्ञान लेंगे।    

उपचुनाव में आसानी से गठबंधन की होगी जीतः आलमगीर आलम

ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि चुनावी बिगुल बज चुकी है। दुमका और बेरमों में उपचुनाव होना है। झामुमो से बसंत सोरेन एवं बेरमों से जयमंगल सिंह मैदान में है। दुमका की धरती गुरूजी की धरती है। उनका राजनीतिक जीवन भी यहीं से शुरूआत हुआ था। आलमगीर आलम ने विश्वास जताते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव 2019 में राज्य की जनता मन बना चुकी थी कि गठबंधन का जो भी उम्मीदवार होगें, उन्हें हम जितायेंगे और हुआ भी वही। उन्होंने दोनो सीट पर जीत का दावा करते हुए कहा कि लेकिन चुनाव तो चुनाव होता है। यह चुनाव आसानी से दोनों उम्मीदवार का जीत का दावा करते हुए शुभकामनाएं दिया। 

जन-गण के बीच जाकर गठबंधन उम्मीदवार को दिलायेगे जीतः सत्यानंद भोक्ता 

श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने देश का पहला राज्य झारखंड है। जहां बीते विधानसभा चुनाव में दुमका और बरहेट से चुनावी मैदान में उतरे हेमंत सोरेन को हराने के लिए देश के प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री दोनों मैदान में उतरे थे। इसके बावजूद भी सीएम हेमंत सोरेने ने जीत हासिल किया। वर्तमान में तो मुख्यमंत्री और तमाम कार्यकर्त्ता है। जन-जन के बीच जाकर दुमका और बेरमो के उम्मीदवार को जिताने का काम करेंगे। इस अवसर पर कृषि मंत्री बादल पत्रलेख, पौड़याहाट विधायक प्रदीप यादव, जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी, रामगढ़ विधायिका सहित राज्य के अन्य विधायक एवं महागठबंधन के नेता और कार्यकर्त्ता उपस्थ्सित थे। 

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *