Jharkhand News : झामुमो से अपमान का बदला लेने का सही अवसर,मतदाता चूकें नहीं – अर्जुन मुंडा

दुमका, 21 अक्टूबर । केंद्रीय कल्याण मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि झामुमो से अपमान का बदला लेने का सही अवसर है। दुमका के मतदाता इस अवसर को नहीं चूकें। अर्जुन ने कहा कि दुमका झारखंड की उपराजधानी है और यहां के मतदाताओं ने झामुमो के हेमंत सोरेन को चुनाव जिताया तो वे अभी सूबे के मुख्यमंत्री बन गए। कहा कि पहले तो उन्हें दुमका की जनता पर भरोसा नहीं था और इसी कारण बरहेट से भी चुनाव लड़े। जब यहां की जनता ने उन्हें सम्मान दिया और चुनाव में जीत दिलवाई तो वे दुमका सीट को छोड़कर यहां के मतदाताओं को हल्का बना दिया।

अर्जुन मुंडा दुमका विधानसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी डॉ. लुइस मरांडी के पक्ष में बुधवार को सदर प्रखंड दुमका के मुड़ाबहाल मैदान में  सभा को संबोधित करे थे। उन्होंने कहा कि जब तक तराजू के दोनों पलड़े समान नहीं होते हैं तब तक संतुलन नहीं होता है। इसलिए उपचुनाव में झामुमो को हराकर संतुलन बनाए और हेमंत सरकार को चेतावनी देने का काम करें। कहा कि झामुमो ने यहां से जिस प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतारा है वह क्षेत्र के विकास के लिए नहीं बल्कि अपने विकास के लिए एमएलए बनना चाहता है। हेमंत सरकार पर प्रहार करते हुए अर्जुन ने कहा कि राज्य में विकास पूरी तरह से ठप है। ट्रेजरी में ताला लटका है।

Amazon_Fashion_2

मुंडा ने कहा कि हेमंत सरकार केंद्र से भेजी गई राशि भी ठीक से खर्च नहीं कर पाई है। केंद्रीय कल्याण मंत्रालय से आदिवासी व दलितों के कल्याण के लिए राशि भेजी गई है, लेकिन सरकार उसे खर्च नहीं कर पाई है। उन्होंने मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि पैसे तिजोरी में जमा करने के लिए थोड़े ही दिए गए हैं। उनके मंत्रालय से छात्रों के छात्रवृत्ति के लिए 3000 करोड़ सीधे तौर पर 30 लाख छात्रों के खाते में भेजने की व्यवस्था की गई है। राशि भेजने का काम भी शुरू हो चुका है। बंधन योजना के तहत स्वयं सहायता समूहों के जरिए उत्पादन और रोजगार बढ़ाने की पहल हो रही है। दुमका के सभी 10 प्रखंडों में नवोदय की तर्ज पर एक-एक विद्यालय की स्वीकृति दे दी गई है।  मुंडा ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार देश की जनता के लिए फिक्रमंद है। प्रधानमंत्री देश के एक-एक नागरिक का जीवन सुरक्षित रखना चाहते हैं, इसलिए कोविड-19 के संक्रमण के लेकर उन्होंने आमजनों से अपील की है कि जब तक दवाई नहीं निकले तब तक कोई ढ़िलाई नहीं हो। कहा कि प्रधानमंत्री सरहदों पर सुरक्षा कवच मजबूत कर जवानों का मनोबल ऊंचा किए हैं। अखंड, समृद्ध और सुरक्षित भारत के लिए नरेंद्र मोदी और भाजपा का हाथ मजबूत करें। सभा को सांसद सुनील सोरेन समेत कई वक्ताओं ने भी संबोधित किया।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *