Jharkhand News Update : नहीं रहे अखिल भारतीय सरना समाज के अध्यक्ष मदीराय मुंडा

Insight Online News

-कड़िया मुंडा, अर्जुन मुंडा सहित विभिन्न दलों के नेताओं ने जतायी संवेदना

खूंटी, 31 मार्च : अखिल भारतीय सरना समाज के अध्यक्ष और खूंटी नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष मदिराय मुंडा का बुधवार को रिम्स रांची में इलाज के दौरान निधन हो गया। 75 वर्षीय मदीराय मुंडा नगर पंचायत खूंटी का गठन होने के बाद हुए पहले चुनाव में अध्यक्ष चुने गए थे। दूसरी बार हुए नगर पंचायत के चुनाव में अध्यक्ष पद आदिवासी महिला के लिए आरक्षित हो जाने के कारण उनकी पत्नी रानी टूटी चुनाव लड़ी थी और अध्यक्ष चुनी गई थी।

बताया गया कि वे कुछ दिनों से बीमार थे। होली से एक दिन पूर्व रविवार को उन्हें इलाज के लिए रांची के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां से कल उन्हें छुट्टी दे दी गई थी। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद मंगलवार को घर आने पर उनकी तबीयत फिर से खराब हो गई। इस पर बुधवार को सुबह उन्हें फिर इलाज के लिए रिम्स रांची ले जाया गया, जहां दोपहर लगभग 12 बजे उनका निधन हो गया। मुंडा प्रारंभिक समय से ही भाजपा के बैनर तले राजनीति में सक्रिय रहे थे। पूर्व सांसद कड़िया मुंडा के कोयला मंत्रालय का प्रभार संभालने के दौरान वे उनका निजी सचिव भी थे। वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में खूंटी विधानसभा क्षेत्र से उन्होंने भाजपा से बागी होकर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के रूप चुनाव लड़ा था, पर वे वे असफल रहे थे।

खूंटी जिले के लिए अपूरणीय क्षति: कड़िया मुंडा

मदीराय मुंडा के निधन पर संवेदना व्यक्त करते हुए लोकसभा के पूर्व उपाध्यक्ष पद्मभूषण कड़िया मुंडा ने कहा कि मदीराय का इस तरह जाना काफी दुखद है। उन्होंने कहा कि उनके निधन से खूंटी ने एक सच्चा सामाजिक कार्यकर्ता खो दिया। यह पूरे जिले के साथ ही पूरे क्षेत्र में सामाजिक कार्यों का नेतृत्व करते थे। कड़िया मुंडा ने कहा कि मदीराय मुंडा का निधन उनकी व्यक्तिगत क्षति है और इसकी भरपाई कभी नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि ईश्वर से प्रार्थना है कि उन्हें अपने चरणों में जगह दें और परिवार को दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें।

सामाजिक कार्यों में हमेशा प्रतिबद्ध रहे मदीराय मुडा: अर्जुन मुंडा

मदीराय मुंडा के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए केंद्रीय मंत्री एवं खूंटी के सांसद अर्जुन मुंडा ने कहा कि मदीराय मुंडा आजीवन सामजिक कार्यों में प्रतिबद्ध रहे। मंत्री ने कहा कि मदीराय मुंडा अखिल भारतीय सरना समाज के अध्यक्ष के साथ ही खूंटी नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष एवं कन्या आश्रम लुम्बई, बंदगांव के सचिव के साथ ही विभिन्न सामाजिक संगठनों से जुड़े थे। उन्होंने कहा कि स्व मुंडा को भगवान अपने श्रीचरणों में स्थान दें और उनके परिजनों को यह दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

मदीराय का जाना मेरी व्यक्तिगत क्षति: नीलकंठ

मदीराय मुंडा के निधन की खबर सुनते ही खूंटी के विधायक व भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष नीलकंठ सिंह मुंडा, मदीराय मुंडा के घर पहुंचे और काफी देर परिवार वालों को ढाढ़स बंधाते रहे। नीलकंठ ने कहा कि मदीराय मुंडा रिश्ते में तो चाचा थे ही, पर वे उनके मार्गदर्शक भी रहे। उन्होंने कहा कि मदीराय जी से उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला। पूर्व मंत्री ने कहा कि मदीराय मुंडा का निधन उनकी वयक्तिगत क्षति है।

इधर, झामुमो के जिलाध्यक्ष जुबैर अहमद, उपाध्यक्ष मकसूद अंसारी, मगन मंजीत तिड़ू, झारखंड पार्टी के जेम्स टोपनो, पतरस होरो, झाविमो के पूर्व जिलाध्यक्ष दिलीप मिश्र सहित कई लोगों ने भी मदीराय के निधन पर संवदेना व्यक्त करते हुए इसे खूंटी के लिए अपूरणीय क्षति बताया।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *