Jharkhand News : पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन के आप्त सचिव विवेकानंद राउत का कार्य सेवा संहिता के खिलाफ – भाजपा

रांची, 23 अक्टूबर। प्रदेश भाजपा ने शुक्रवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से ज्ञापन सौंपकर शिकायत दर्ज कराया है। पार्टी के चुनाव आयोग संपर्क विभाग के सह संयोजक सुधीर श्रीवास्तव ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहा कि आगामी तीन नवंबर को बेरमो और दुमका विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव होना है। ऐसे में इन क्षेत्रों में आचार संहिता लागू है, ऐसे समय मे झारखंड विधानसभा में प्रशाखा पदाधिकारी के रूप में कार्यरत दुमका निवासी विवेकानंद को पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन का सरकारी आप्त सचिव बनाया जाना आचार संहिता का घोर उल्लंघन है। इतना ही नहीं राउत का नाम देवघर और दुमका दोनों विधानसभा क्षेत्र के मतदाता सूची में शामिल है जो पूरी तरह असंवैधानिक है। श्रीवास्तव ने बताया कि राउत झामुमो उम्मीदवार बसंत सोरेन के साथ खुलेआम  घूम घूम कर चुनाव प्रचार भी कर रहे जो पूरी तरह सेवा संहिता के विरुद्ध है।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने उपरोक्त शिकायतों से संबंधित चित्र भी आवेदन में संलग्न किये है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने मांग की है कि  ऐसे सरकारी पदाधिकारी जो  पद पर रहते हुए  राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में चुनाव प्रचार कर रहा है। जिसके दो दो वोटर आईडी कार्ड हो, उन्हें सेवा से बर्खास्त किया जाए। श्रीवास्तव ने कहा कि दूसरा ज्ञापन दुमका विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के दौरान हिंसा, मारपीट की संभावनाओं के मद्दे नजर पारा मिलिट्री की देख रेख में कराने संबंधी है। उन्होंने कहा कि दुमका क्षेत्र में राज्य सरकार के इशारे पर भाजपा कार्यकर्ताओं  पर लगातार जानलेवा हमले हो रहे हैं।

22 अक्टूबर को मालभण्डारो में आदिवासी भाजपा कार्यकर्ता प्रदीप सोरेन पर जानलेवा हमला हुआ। इसके पूर्व भी भाजपा का झंडा, बैनर फाड़ने जैसी घटनाएं हुई है। ऐसी घटनाओं को  झामुमो के कार्यकर्ताओं द्वारा उपचुनाव घोषणा के बाद से लगातार किया जा रहा है। ऐसी परिस्थिति में वहां निष्पक्ष चुनाव संभव नही दिखता। उन्होंने कहा कि पार्टी ने इसलिये मांग की है कि दुमका उपचुनाव को शांतिपूर्ण एवम निष्पक्ष तरीके से सम्पन्न कराने के लिये उपचुनाव में  बूथों पर पारा मिलिट्री फ़ोर्स प्रतिनियुक्त किये जायें।

(हि. स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *