Jharkhand : पलामू के महादलितों के आशियाने उजाड़ने वालों पर हो मुकदमा : दीपक प्रकाश

-प्रलोभन, आतंक, लव जिहाद के माध्यम से धर्मांतरण को मिल रहा बढ़ावा

रांची, 3 सितंबर। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने राज्य सरकार से पलामू जिले के मुरूमातू गांव मामले में कार्रवाई की मांग की है। साथ ही कहा कि राज्य सरकार इस घटना में शामिल समाज विशेष के सभी पुरुष और महिलाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कड़ी से कड़ी सजा दिलाए।

उन्होंने कहा कि पलामू के पांडू ब्लॉक के मुरुमातू में हुई घटना राज्य के माथे पर कलंक है। वहां 50 महादलित परिवारों को जबरन एक समुदाय विशेष के लोगों ने जबरन घर खाली करा दिया। 179 वर्षों से महादलितों के पूर्वज उस जमीन पर रहते आ रहे थे। उनके बच्चों को किडनैप कर छतरपुर के घने जंगलों में फेक दिया गया। इसके बाद जब महादलित परिवारों के लोग बच्चों की खोज करने गये तो उनके घरों को रातों रात जेसीबी लगाकर ध्वस्त कर दिया गया। एक मंदिर को भी गिरा दिया। दीपक प्रकाश शनिवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि स्थानीय कांग्रेस नेता और मुखिया इबरार अहमद इस घटनाकांड का प्रमुख है। दीपक प्रकाश ने मांग किया कि जिन परिवारों को बेघर किया गया, उन्हें सरकार उनकी पुश्तैनी जमीन पर ही पीएम आवास, अंबेडकर आवास योजना के तहत आवासीय सुविधा दे। उन्होंने कहा कि संताल से पलामू तक तुष्टिकरण की नीति पर सरकार चल रही है।

सांसद निशिकांत दुबे, मनोज तिवारी सहित अन्य पर प्राथमिकी दर्ज किये जाने के मसले पर दीपक ने देवघर डीसी की भूमिका पर सवाल उठाए। कहा कि सांसदों और अन्य पर फर्जी मुकदमा कर दिया गया। एयरपोर्ट के खास एरिया में जबर्दस्ती प्रवेश का फर्जी मामला डाला गया। वास्तव में इस मामले में खुद डीसी की भूमिका ही संदिग्ध है।

विधानसभा सत्र की तैयारियों पर दीपक ने कहा कि पांच सितंबर को होने वाले विशेष सत्र के संबंध में चार सितंबर को भाजपा विधायकों की बैठक पार्टी कार्यालय में होगी। राय मशविरा के बाद पार्टी किसी एक निर्णय पर पहुंचेगी।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *