Jharkhand Update : कोरोना से जान गंवाने वाले पदाधिकारियों के आश्रितों की चिंता करें सरकार, लंबोदर

Insight Online News

रांची, 27 अप्रैल : आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव और विधायक लंबोदर महतो ने कहा है कि कोरोना के नियंत्रण में झारखंड प्रशासनिक सेवा के पदाधिकारी अपनी जान की परवाह किए बिना अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। इस क्रम में वे संक्रमित भी हो रहे हैं। कई पदाधिकारियों की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गई है।

उन्होंने मंगलवार को कहा कि झारखंड प्रशासनिक सेवा के पदाधिकारी कुमार मनीष को दस माह से वेतन नहीं मिला था और बेहतर इलाज के अभाव में उनकी मौत हो गई। यह बातें उनके परिवार के लोगों ने हमें बताई है। इसी प्रकार झारखंड प्रशासनिक सेवा के पदाधिकारी कमला कांत गुप्ता, जो आर्थिक समस्या के साथ-साथ कोरोना से संक्रमित होकर जीवन व मौत से जूझ रहे हैं। इन्हें भी कई माह से वेतन नहीं मिला है। अब तक झारखंड प्रशासनिक सेवा के कुमार मनीष, राहुल वर्मा, संजीव कुमार भारती, नमिता नलिन मिंज, मेघना रूबी कच्छप, नुरुल होदा व नवीन सुवर्णो की मृत्यु हो चुकी है। साथ ही पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता मनोज चौधरी, विद्युत कार्यपालक अभियंता सुनाराम सोरेन, श्रम अधीक्षक दिगंबर महतो व विधानसभा के अवर सचिव मनोहर लकड़ा की भी कोरोना से संक्रमित होने के बाद मृत्यु हो गई है। इसके साथ ही प्रसिद्ध शिक्षाविद, नागपुरी साहित्यकार व संस्कृति कर्मी गिरधारी राम गोंझू की भी मृत्यु हो गई है। कई चिकित्सक भी अपनी जान गवां चुके हैं।

उन्होंने दिवंगत आत्माओं के प्रति अपनी गहरी संवेदना प्रकट की है और ईश्वर से उनके परिजनों को इस विपत्ति सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। लंबोदर महतो ने कहा कि झारखंड प्रशासनिक सेवा व अन्य सेवा के सभी पदाधिकारी पूरी जिम्मेदारी के साथ इस कठिन समय में बिना अपनी जान की परवाह किये सरकार द्वारा दिये गए उत्तरदायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं एवं आगे भी करते रहेंगे। लेकिन स्वयं या परिवार के संक्रमित होने पर उनके चिकित्सा की समुचित व्यवस्था नहीं हो पा रही है जो अत्यंत ही दु:खद है। विधवा पत्नी, विधुर पति एवं छोटे छोटे बच्चों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। बीमार पदाधिकारियों एवं उनके परिवार के इलाज की समुचित व्यवस्था की जाय तथा शीघ्र अनुकंपा के आधार पर परिवार के एक सदस्य की नियुक्ति की जाय। इस महामारी में कार्यरत सभी पदाधिकारियों का बीमा कराया जाय ताकि अनहोनी होने पर अथवा चिकित्सा के लिए आर्थिक कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़े। बच्चों की पढ़ाई की व्यवस्था की जाय। उन्होंने कहा कि झारखंड आंदोलनकारी और घाटशिला के पूर्व विधायक सूर्य सिंह बेसरा कोरोना से संक्रमित होकर गंभीर रूप से बीमार हैं और इनकी भी समुचित इलाज की व्यवस्था राज्य सरकार को करनी चाहिए।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *