Jharkhand Update : राज्य में मोबाइल धान क्रय केंद्र की होगी व्यवस्था-पत्रलेख

Insight Online News

रांची, 12 दिसम्बर : राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कृषि बजट को लेकर आज हजारीबाग में जनप्रतिनिधियों, किसान प्रतिनिधियों और विभागीय वरीय पदाधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में कई सुझावों पर चर्चा की गई। बाद में पत्रकारों से बातचीत में कृषि मंत्री ने कहा कि राज्य में पंद्रह लाख नए किसानों को किसान सम्मान निधि से जोड़ने का काम किया गया है। साथ ही छह लाख अन्य किसानों को भी इस योजना से जोड़ा जाएगा।

कृषि मंत्री ने कहा कि सभी किसानों को केसीसी ऋण दिलाया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि 29 दिसंबर से सरकार की उपलब्धियों में बहुत बड़ा हिस्सा कृषि विभाग का होगा।

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि हजारीबाग के डेमोटांड़ स्थित कृषि पर्यटन केंद्र को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस का दर्जा दिया जाएगा। यहां न केवल किसानों को बेहतर प्रशिक्षण दिया जाएगा बल्कि किसान यहां से बेहतर तकनीक प्राप्त कर देश के किसानों के लिए रोल मॉडल बनेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि अब तक कृषि बीमा के माध्यम से किसानों की नहीं इंश्योरेंस कंपनियों की चिंता की गई। यही कारण है कि पूर्व में 402 करोड़ बीमे की राशि कंपनियों को दी गई, लेकिन कंपनियों ने महज 80 करोड़ रुपये किसानों को मुआवजा के रूप में वितरित किया।

धान अधिप्राप्ति के बाबत पूछे गए सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि व्यवस्थाएं बन रही हैं। जल्द ही किसानों के धान खरीदे जाएंगे। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में 3 गुना अधिक धान की खरीद की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि जरूरत पड़ने पर मोबाइल धान अधिप्राप्ति केंद्र प्रारंभ किया जाएगा। मंत्री शनिवार को हजारीबाग में मोटा पर्यटन केंद्र में आगामी 20 21 22 के लिए कृषि बजट को लेकर बैठक कर रहे थे। इस क्रम में उन्होंने कृषि पर्यटन केंद्र का निरीक्षण भी किया।

कृषिमंत्री राज्य सरकार के योजनाओ का विस्तार से जिक्र करते हुए अब तक के उपलब्धिओं को बतायाद्य उन्होंने टीम भावना के साथ कृषि,पशुपालन के क्षेत्र में एक बड़ी बदलाव लाने की बात कहीद्य उन्होने कृषको के ऋण माफ़ी को लेकर कहा की 50 हज़ार तक के कर्ज माफ़ी करने का निर्णय सरकार द्वारा लिया गया है जल्द ही इसकी घोषणा की जायेगी।

विगत 3 वर्षो में 477 करोड़ रु का बीमा बीमा कंपनियों के द्वारा कृषको का कराया गया था जिसमें केवल 80 करोड़ बीमा का दावा निष्पादित किया गया जो दुखद हैद्य वर्तमान सरकार के एक वर्ष पूर्ण होते होते किसान मछली,अंडा के उत्पादन में आत्मनिर्भर हो रहे है। सरकार कृषको की समस्या को लेकर संवेदनशीलता के साथ कार्य कर रही है साथ ही उन्होंने क्षेत्रीय स्तर पर अधिकारिओ को भी संवेदनशील होकर कार्य करने की बात कही। डेमोटांड स्थित जैस्मीन संस्था की भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए यह संस्थान को पुरे देश के लिए आदर्श केंद्र होने की बात कही। उन्होंने कहा की बिरसा किसान योजना के नाम से उन्नत तकनीक के प्रशिक्षण से कृषको को समृद्ध किया जायेगा। साथ ही वन डिस्ट्रिक्ट वन कॉर्प पर भी कार्य किया जा रहा हैद्य उन्होने मौके पर चुरचू से आये जेएसपीएल की महिला समूह को चना और सरसो के बीज का वितरण किया।

मौके पर बरकट्ठा विधायक,रामगढ विधायक,बड़कागांव विधायक एवं मांडू विधायक ने भी कृषको और जैस्मीन संस्था के द्वारा किये जा रहे कार्यो की विस्तार से चर्चा की। उन्होंने इस केंद्र को पर्यटन के दृष्टिकोण से भी आदर्श बताया साथ ही हज़ारीबाग़ के लिए गौरव होने की बात कही।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES