Jharkhand Update : 48 घंटे की जांच के बाद पुलिस ने भोला दांगी को दी क्लीनचिट

रामगढ़, 01 दिसंबर : रामगढ़ जिले के गोला रेलवे साइडिंग पर गोली कांड से कांग्रेसी नेता भोला दांगी का तार जुड़ा, लेकिन वह बात पूरी तरीके से निराधार था। 48 घंटे तक रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार के नेतृत्व में पूरी टीम ने जांच की। लेकिन उनके हाथ कोई सुराग नहीं लगा। सबूतों के अभाव में भोला दांगी को क्लीन चिट देते हुए उन्हें थाने से ही छोड़ दिया गया। मंगलवार को भोला दांगी ने इस पूरे मामले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस किया। उन्होंने कहा कि राजनीतिक साजिश के तहत उन्हें फंसाने की पूरी कोशिश की गई थी। लेकिन पुलिस की निष्पक्ष जांच के बाद उन्हें थोड़ा गया है।

भोला दांगी ने कहा कि मेरी राजनीतिक सक्रियता बढ़ने के कारण कुछ लोग डर गये है। जिस कारण मुझे रेलवे साइडिंग गोली कांड में राजनीतिक षड्यंत्र के तहत फंसाने की कोशिश की। लेकिन एसपी प्रभात कुमार ने इस मामले की निष्पक्ष जांच की। कई एंगल और तकनीकी सेल के माध्यम से जांच की गयी। जहां पूर्व में या वर्तमान में मेरा किसी गैर कानूनी लोगों से संबंध नहीं रहा है। जो अपराधी मेरा नाम ले रहा था, वह किसी के कहने पर ले रहा था। पुलिस उसका नाम उजागर करे।

बोला दांगी ने कहा कि बोला रेलवे साइडिंग पिछले 15 वर्षों में उनका कोई वास्ता नहीं रहा और ना ही वर्तमान समय में है। जो लोग पहले साइडिंग का ठेका लेकर काम कर रहे थे और जो वर्तमान में काम कर रहे हैं वे दोनों ही सत्ता में रहकर काम कर रहे हैं। वहां पर सिर्फ वर्चस्व की लड़ाई चल रही थी। मेरी वह हैसियत नहीं कि मैं रेलवे साइडिंग का काम कर सकूं।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *