Kapurthala mob lynching case : सीएम चन्नी बोले- बेअदबी नहीं हुई, गुरुद्वारे के मुख्य प्रबंधक समेत दो गिरफ्तार

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने शुक्रवार को चंडीगढ़ के पंजाब भवन में पत्रकारवार्ता को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने माना कि कपूरथला में बेअदबी के आरोप में एक व्यक्ति की हत्या हुई थी। इस मामले में अभी तक इस बात का कोई सबूत नहीं है कि बेअदबी की गई थी। मामले की जांच की जा रही है। प्राथमिकी में संशोधन किया जाएगा। अब हत्या की एफआईआर दर्ज की जाएगी। सीएम के बयान के बाद कपूरथला पुलिस हरकत में आई और गुरुद्वारे के मुख्य प्रबंधक अमरजीत सिंह समेत दो आरोपियों को मामले में गिरफ्तार कर लिया।

रविवार को गांव निजामपुर के गुरुद्वारा साहिब में बेअदबी के शक में मारे गए मृतक के पोस्टमार्टम में तेजधार व नुकीले हथियारों से 30 से ज्यादा शार्प कट और मल्टीपल इंजरी के निशान पाए गए हैं। पुलिस ने 72 घंटे शिनाख्त के लिए मोर्चरी में रखने की प्रक्रिया के वीरवार को मृतक के किसी भी परिचित के सामने न आने और फिंगर प्रिंट के जरिये आधर से मिसमैच होने के चलते नगर निगम को अंतिम संस्कार के लिए शव सौंप दिया। निगम ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया है।

जिला पुलिस ने मृतक की शिनाख्त न हो पाने पर वीरवार को सिविल अस्पताल के डा. तुषार वालिया, डा. अमनदीप रियाद, डा. गुरदेव भट्टी, डा. रवजीत सिंह तथा डा. आकाशदीप पर आधारित पांच डाक्टरों के मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया। पोस्टमार्टम के बाद कार्यकारी एसएमओ डा. नरिंदर सिंह ने बताया कि युवक के गले, सिर और हिप(कूल्हे) सहित शरीर पर 30 से ज्यादा शार्प कट के अलावा मल्टीपल इंजरी के निशान पाए गए हैं। साथ ही उसकी छाती पर कोई नुकीली वस्तु घुसाने के निशान भी मिला है। उन्होंने यह भी बताया कि गले के बाईं तरफ तीखे निशान के कारण उसकी श्वास नली भी कटी हुई है।

पत्रकारवार्ता के दौरान नशा तस्करी मामले में चन्नी ने कहा कि आम आदमी पार्टी कहती है कि मैं ड्रामा कर रहा हूं। अरविंद केजरीवाल ने कोर्ट में ‘माफीनामा’ दिया और बिक्रम सिंह मजीठिया से सॉरी बोला और भाग गए। अब उनके 10 विधायकों ने भी उन्हें छोड़ दिया क्योंकि वह इस ड्रग मुद्दे पर स्टैंड नहीं ले सके। सीएम ने कहा कि हमने ड्रग माफिया के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। मोहाली कोर्ट में केस दर्ज हुआ और फिर लुधियाना कोर्ट में धमाका हुआ। मुझे लगता है कि इनके बीच एक कड़ी हो सकती है। इसकी जांच की जा रही है। चन्नी ने कहा कि राज्य में अभी तक कोई कोरोना से संबंधित प्रतिबंध नहीं हैं, लेकिन हम लोगों से दिशानिर्देशों का पालन करने का अनुरोध करते हैं। 

गुरुवार को मुख्यमंत्री ने कहा था कि सिर्फ एक केस ने बिक्रम मजीठिया को छिपने के लिए मजबूर कर दिया है और अगर अकाली नेता ने कुछ गलत नहीं किया है तो उन्हें कानूनी प्रक्रिया का सामना करने के लिए आगे आना चाहिए। 

सुखबीर बादल और बिक्रम मजीठिया पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि दोनों ने बड़ी पुरानी पार्टी शिरोमणि अकाली दल की महान विरासत को नुकसान पहुंचाया है और नशा तस्करी और बेअदबी वाली घटनाओं में शामिल होकर अकाली दल के नाम को कलंकित किया है।  

सीएम ने आम आदमी पार्टी (आप) पर निशाना साधा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने ड्रग मामले में मजीठिया से माफी मांगी थी जबकि केजरीवाल ने पिछले चुनाव में अकाली नेता पर नशा तस्करी का दोष लगा वोट मांगी थी। 

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *