KCR : केसीआर ने की आदिवासियों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण की घोषणा

हैदराबाद, 17 सितंबर : तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) ने राज्य में आदिवासियों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने की घोषणा की है।

श्री राव ने शनिवार को यहां एनटीआर स्टेडियम में आदिवासी कल्याण विभाग द्वारा आयोजित तेलंगाना आदिवासी-बंजाराला आत्मीय सभा में कहा कि इस संबंध में सरकारी आदेश (जीओ) एक सप्ताह के भीतर जारी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने विधानसभा में प्रस्ताव पारित करने के बाद केंद्र से आदिवासी क्षेत्रों में आरक्षण छह प्रतिशत से बढ़ाकर 10 प्रतिशत करने को कहा है। सात साल बाद भी केंद्र ने इस संबंध में सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं दी

है। इसके बाद राज्य सरकार ने राज्य में जनजातियों को 10 प्रतिशत आरक्षण लागू करने का निर्णय लिया है।

श्री राव ने कहा, “ संविधान में कहीं भी आरक्षण 50 प्रतिशत से अधिक नहीं है। तमिलनाडु में 69 प्रतिशत आरक्षण लागू है। तेलंगाना को क्यों नहीं दिया जा रहा है? हम अपना हक मांग रहे हैं।”

उन्होंने कहा,“तेलंगाना आदिवासी-बंजाराला आत्मीय सभा एक सर्वसम्मत प्रस्ताव पारित कर रही है जिसमें केंद्र से राष्ट्रपति की मुहर के साथ विधेयक को पारित करने का अनुरोध किया गया है। ”

उन्होंने केंद्र के आठ साल के शासन के दौरान कुछ नहीं करने के लिए उसकी आलोचना की। उन्होंने आरोप लगाया कि गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) के नाम पर लाखों या करोड़ों रुपये बढ़ाए गए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भूमिहीन आदिवासियों को जमीन बांटेगी और दलित बंधु योजना के तहत अब तक आदिवासी को 10 लाख रुपये देकर आदिवासी बंधु को लागू किया जाएगा। फंड जुटाने के बाद एक बार में यह योजना शुरू की जाएगी।

श्री राव ने, “ हमारा उद्देश्य धन पैदा करना और इसे गरीबों में वितरित करना है।”

उन्होंने कहा कि जनजातीय आवासीय विद्यालयों को बढ़ाने के अलावा, सरकार राज्य में आदिवासी बालिका आवासीय विद्यालय शुरू करने की योजना बना रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने नए तेलंगाना राज्य सचिवालय का नाम रखने का फैसला किया है जो विश्व बौद्धिक और भारतीय संविधान के पिता भारत रत्न डॉ बाबासाहेब अंबेडकर के नाम

पर निर्माणाधीन है।

कार्यक्रम में महिला एवं बाल कल्याण मंत्री सत्यवती राठौड़, मुख्य सचिव सोमेश कुमार और बड़ी संख्या में आदिवासी समुदायों ने भाग लिया।

तेलंगाना जटेया समिक्यथा दिनोत्सवम (तेलंगाना राष्ट्रीय एकता दिवस) के हिस्से के रूप में पीपुल्स प्लाजा से एनटीआर स्टेडियम तक एक विशाल रैली का आयोजन भी किया गया था।

संजय.श्रवण

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *