Keshav Prasad Maurya : 10 मार्च के बाद भी जारी रहेगा गुंडों, माफिया और दंगाइयों का पलायन : मौर्य

लखनऊ, 22 जनवरी । उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शनिवार को समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि सपा को पहले चरण के चुनाव में ही अपनी हार नजर आने लगी है। यही कारण है कि अखिलश पहले चुनाव लड़ने से घबरा रहे थे और अब सूची जारी करने में भी घबरा रहे हैं। उन्होंने कहा कि 10 मार्च के बाद भी प्रदेश से दंगाइयों, माफिया, गुंडों, भ्रष्टाचारियों का पलायन जारी रहेगा। क्योंकि उत्तर प्रदेश को तरक्की पसंद है, जो भाजपा की सरकार ही दे सकती है।

मौर्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार में प्रगति हुई है तो किसानों की, प्रगति हुई है तो नौजवानों की, प्रगति हुई है तो महिलाओं की, प्रगति हुई है तो गरीबों की, प्रगति हुई है तो वंचितों की। 2017 के बाद से प्रदेश की प्रगति हुई है। उत्तर प्रदेशवासियों को पलायन के लिए मजबूर करने वाले आज खुद पलायन को मजबूर हैं। भाजपा सरकार में, पलायन हुआ है तो माफिया का, पलायन हुआ है तो दंगाइयों का, पलायन हुआ है तो गुंडों का, पलायन हुआ है तो व्यभिचारियों का, पलायन हुआ है तो भ्रष्टाचारियों का। ऐसे लोगों का पलायन उत्तर प्रदेश में जारी रहेगा, क्योंकि यूपी फिर मांगे भाजपा सरकार। भाजपा सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए उप मुख्यमंत्री मौर्य ने कहा कि सपा मुखिया अखिलेश यादव को समझ में आ जाना चाहिये कि अब यूपी में उनकी दाल गलने वाली नहीं है।

लखनऊ में पत्रकारों के सवालों के जवाब में मौर्य ने कहा कि ‘जन-जन की है यही पुकार, यूपी फिर मांगे भाजपा सरकार’। उन्होंने सपा पर तंज कसते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की बयार चल रही है। जिनके आगे जनता को ठगने वाले वादे और छलावे की राजनीति करने वाले राजनीतिक दलों का टिकना तो दूर, वो अब बोरिया-बिस्तर बांधने की तैयारी कर रहे हैं। सपा के पास गुंडे, अपराधी, माफिया, भ्रष्टाचारियों और दंगाई के अलावा कोई है नहीं है। इसलिए अखिलेश यादव अब सूची जारी करने से घबरा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पांच सालों तक कुंभकरण की नींद सोते रहे अखिलेश यादव किस उम्मीद से यूपी में चुनाव लड़ने आए हैं। उन्होंने अपनी सरकार रहते तो जनता को केवल ठगने का काम किया। भ्रष्टाचार को संरक्षण दिया। गुंडागर्दी और माफियाराज को बढ़ाने का काम किया। किसानों को अन्न देने की जगह उनकी जमीन पर कब्जे किये। इनता नहीं नहीं व्यापारियों के साथ लूट, अपराधों को बढ़ाने में समाजवादी सरकार नम्बर एक पर रही। ऐसे सपा की सरकार का कार्यकाल जनता भूली नहीं है।

मौर्य ने पलायन के मुद्दे पर पत्रकारों के सवाल कहा कि हां… यूपी में पलायन हुआ है सपा सरकार में और पलायन रुका है भाजपा की सरकार में। उन्होंने कहा कि जहां वर्ष 2017 से पहले यूपी में किसान आत्महत्या करता था। वहीं भाजपा की पांच साल की सरकार किसानों के साथ हर मोर्चे पर खड़ी रही है। आज यूपी गेहू, आलू, सब्जी, फल और तिलहन उत्पादन में नंबर-वन है। आजादी के बाद किसानों को भाजपा सरकार में ही पहली बार किसान सम्मान निधि को तोहफा मिला है। उन्नत खेती करने वाले किसानों को सम्मान दिया गया। उनको तोहफे में ट्रैक्टर बांटे गये। धान और गेहूं सीधे किसानों से सरकार ने खरीदा और भुगतान सीधे उनके खातों में किया। पिछली सरकारों की तुलना में भाजपा की सरकार ने रिकार्ड तोड़ते हुए दोगुने से अधिक किसानों को लाभ पहुंचाया। पारदर्शी तरीके से एमएसपी से खरीद की और सीधे किसानों के खातों में त्वरित भुगतान में भी भाजपा सबसे आगे रही है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.