Lata Mangeshkar : ‘ऐ मेरे वतन के लोगों..’ को सबसे पसंदीदा और असरदार गीत मानती हैं लता मंगेशकर

भारत रत्न से सम्मानित गायिका लता मंगेशकर आज 91 साल की हो गई हैं। लता मंगेशकर का जन्म 28 सितम्बर, 1929 को मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था। दिग्गज गायिका लता मंगेशकर को ‘नाइटिंगल ऑफ इंडिया’ के नाम से जाना जाता हैं। लता ने वैसे तो हजारों गीत गाए, लेकिन उनका गाया गीत ‘ऐ मेरे वतन के लोगों‘ को सुनकर लाखों आंखें आज भी नम हो जाती है।

दिग्गज गायिका लता मंगेशकर ने 26 जनवरी, 1963 में दिल्ली के राष्ट्रीय स्टेडियम में गाना ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ को पहली बार गाया था, जिसे सुनकर पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू समेत वहां मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो गई थी। लता मंगेशकर को इस गाने ने एक नई पहचान दी। इस गीत को सी रामचंद्रन ने कम्पोज किया था और इसके बोल कवि प्रदीप ने लिखे थे।

कवि प्रदीप के सुझाव पर इस गाने से हुई कमाई को युद्ध में शहीदों के विधवाओं के कल्याण के लिए दान कर दिया गया था। देशभक्ति की भावना से ओत-प्रोत यह गीत आज भी लोग सुनते हैं तो उनकी आंखें नम हो जाती है। गाना ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ भारत के राष्ट्रगीत और राष्ट्रगान के बाद सबसे ज्यादा लोकप्रिय देशभक्त‍ि गीत है। इस गीत में 1962 में भारत-चीन युद्ध के दौरान मारे गए सैनिकों को याद किया गया है। देशभक्ति के गानों में सबसे पहला गाना अगर किसी के भी जेहन में आता है तो वह है ‘ऐ मेरे वतन के लोगों..।’ इस गाने को लता मंगेशकर अपना सबसे पसंदीदा और असरदार गीत मानती हैं।

(हि.स)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *