Lok Sabha by-elections : संजय राउत बोले, भाजपा भले ही प्रचार में बाइडेन को ले आए, हमें दिक्कत नहीं

मुंबई । केंद्र शासित प्रदेश दादरा और नगर हवेली सीट पर आगामी लोकसभा उपचुनाव के लिए यहां शनिवार को प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि भले ही भाजपा अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को प्रचार में ले आए, उनकी पार्टी को चिंता कोई नहीं है। राउत ने कहा, “शिवसेना जब बोलती है, तो उसे दहाड़ना कहा जाता है। भारत के रेलमंत्री पिछले चार दिनों से सिलवासा में बैठे हैं। क्या उनके मंत्रालय में कोई काम नहीं बचा है या इसे भी एयर इंडिया की तरह नीलाम कर दिया गया है? भले ही वे अभियान के लिए बाइडेन को तैनात कर दें, हमें कोई परेशानी नहीं है।”

शिवसेना ने सात बार के पूर्व सांसद मोहन एस. डेलकर की विधवा कलाबेन एम. डेलकर को मैदान में उतारा है। पूर्व सांसद ने 22 फरवरी को मुंबई के एक होटल में आत्महत्या कर ली थी।

शिवसेना नेता ने आगे कहा, “दादरा और नगर हवेली में वर्तमान प्रशासन द्वारा फैलाए गए आतंक का शासन है। मोहन डेलकर ने लोगों के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया। हमने इस केंद्र शासित प्रदेश की जनता के लिए न्याय सुनिश्चित करने खातिर कलाबेन डेलकर को मैदान में उतारा है, जो मौजूदा शासन के तहत पीड़ित हैं।”

शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने यहां मीडियाकर्मियों से बातचीत में भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल चुनाव के दौरान भी पूरे केंद्रीय मंत्रिमंडल और भाजपा के शीर्ष नेताओं ने वहां प्रचार किया, लेकिन ममता बनर्जी के करिश्मे के आगे उनकी कुछ नहीं चली।

राउत ने कहा, “उसी तरह, भाजपा का कोई भी प्रयास यहां काम नहीं करेगा। कलाबेन डेलकर हमारी मां और बहन हैं, हम उनका समर्थन करेंगे। हमें उम्मीद है कि उनकी चुनावी जीत इस निर्वाचन क्षेत्र के चुनावी इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी जीत होगी।”

राउत ने मुंबई से लगभग 170 किमी उत्तर में महाराष्ट्र-गुजरात सीमाओं के बीच स्थित केंद्र शासित प्रदेश में जीत की भविष्यवाणी करते हुए कहा कि कलाबेन डेलकर को किसी सहानुभूति की जरूरत नहीं है, बल्कि केवल समर्थन की जरूरत है, क्योंकि उनके परिवार ने केंद्र शासित प्रदेश में कई दशकों तक काम किया है और वह अपने दिवंगत पति और दिवंगत ससुर संजीभाई आर. डेलकर द्वारा संजोई गई सीट को जीतने की हकदार हैं।

राउत ने कहा, “2024 के चुनावों के बाद शिवसेना राष्ट्रीय राजनीति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी और इसकी शुरुआत दादरा और नगर हवेली सीट से होगी। यह हमारी गरिमा और स्वाभिमान की लड़ाई है और हम अंत तक संघर्ष करेंगे।”

पिछले हफ्ते, कलाबेन डेलकर अपने परिवार और हजारों समर्थकों के साथ, मुंबई में पार्टी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में शिवसेना में शामिल हुईं और राजनीतिक हलकों में उस समय हैरानी की लहर दौड़ गई, जब उन्हें संसदीय उपचुनाव के लिए उम्मीदवार बनाया गया।

-Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *