love jihad in Kerala : कैथोलिक बिशप जोसफ कल्लरैंगाट ने कहा- लव जिहाद और ड्रग्स से गैर मुस्लिम लड़कियों का किया जा रहा मतांतरण

केरल में कैथोलिक चर्च के बिशप जोसफ कल्लरैंगाट ने आरोप लगाया कि केरल में युवतियां बड़े पैमाने पर ‘लव और नार्कोटिक जिहाद’ के जाल में फंस रही हैं। बिशप ने कहा कि इन चालों का इस्तेमाल गैर मुस्लिमों को तबाह करने के लिए किया जा रहा है। कांग्रेस ने जहां बिशप के इस बयान की आलोचना की है, वहीं भाजपा ने कहा कि यह एक गंभीर मुद्दा है।

केरल के पाला चर्च में मौजूद समूह को संबोधित करते हुए कल्लरैंगाट ने कहा, ‘यह महसूस करने के बाद कि भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में हथियार उठाना और दूसरों को तबाह करना आसान नहीं है, उन्होंने गैर मुस्लिमों को शिकार बनाने के लिए विभिन्न तरीके अपना लिए हैं। वे दो हथियार इस्तेमाल कर रहे हैं ‘लव जिहाद और नार्कोटिक जिहाद।’

जिहादी, लव या दूसरे तरीके अपनाकर दूसरे धर्मों की महिलाओं का मतांतरण कराते हैं और आतंकी गतिविधियों या आर्थिक लाभ के लिए उनका दुरुपयोग करते हैं। जिहादी वह हैं जिन्हें लड़कियों को फंसाने और उन्हें अपने माता-पिता, धर्म एवं आस्था को छोड़ने के लिए ब्रेनवाश करने का प्रशिक्षण दिया गया है। यह एक युद्ध रणनीति है। हम लव जिहाद का विरोध कर रहे हैं।’

कल्लरैंगाट ने यह भी दावा किया कि ड्रग्स की बिक्री में वृद्धि ‘नार्को जिहाद’ का सटीक प्रमाण है जहां गैर मुस्लिम युवकों का जीवन ड्रग्स से तबाह हो रहा है। उन्होंने कहा कि जो लोग यह साबित करने का प्रयास कर रहे हैं कोई लव जिहाद नहीं है वे उपेक्षा कर रहे हैं।

केरल के बिशप के आरोप पर सियासी तूफान

बिशप कल्लरैंगाट के बयान को लेकर केरल में राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया है। विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने यह कहते हुए बिशप की आलोचना की कि उनकी टिप्पणी सीमा को लांघ गई है जबकि भाजपा ने पूरा समर्थन जताते हुए समाज से इसपर चर्चा करने का अनुरोध किया है। संवेदनशील मुद्दों पर त्वरित प्रतिक्रिया देने वाली राज्य में सत्ताधारी माकपा ने मामले में अभी तक कोई अधिकृत बयान जारी नहीं किया है।

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष वीडी सतीसन ने फेसबुक पोस्ट में समुदाय और धार्मिक नेताओं से ऐसा बयान जारी करने से बचने के लिए कहा है जिससे राज्य का तानाबाना बिखर जाए। उन्होंने कहा कि अपराध की कोई जाति या जेंडर नहीं होता है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के. सुरेंद्रन ने बिशप का समर्थन करते हुए कहा कि उन्होंने जो कहा है वह गंभीर मुद्दा है जिसपर राज्य के समुदाय को बिना पूर्वाग्रह के चर्चा और उसका विश्लेषण करना चाहिए।

-Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *