Chandra Grahan 2022 : चंद्र ग्रहण भी आ गया, कितने बजे दिखेगा, कब लगेगा सूतक काल,किसको लाभ-किसको हानि

Insight Online News

रांची, : साल का आखिरी चंद्र ग्रहण 2022 कार्तिक पूर्णिमा, 8 नवंबर को लग रहा है। चंद्र ग्रहण 2022 तब होता है जब पूर्णिमा की रात को सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक ही रेखा में होते हैं। पृथ्वी के बीच में रहने से इसकी छाया चंद्रमा पर पड़ती है, जो कभी-कभी इसे एक आकर्षक लाल रंग देती है। हम अगले महीने 8 नवंबर 2022 को फिर से चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2022 Date & Time in India) देखेंगे। यह वर्ष 2022 में चंद्रमा का दूसरा ग्रहण होगा। नवंबर 2022 में लगने वाला चंद्र ग्रहण पूर्ण ग्रहण होगा, इस प्रकार अधिकतम ग्रहण के समय चंद्रमा पूरी तरह से पृथ्वी की छाया से ढंका रहेगा। चन्द्रमा के अंदर का भाग सूर्य के प्रकाश से प्रकाशित होगा।

यह चंद्र ग्रहण 2022 भारत के अधिकतर इलाकों में नहीं दिखेगा। ऐसे में ग्रहण का सूतक काल भी प्रभावी नहीं होगा। 8 नवंबर को लगने वाले साल के दूसरे चंद्र ग्रहण 2022, Chandra Grahan 2022 को लेकर ज्‍योतिषविदों ने हालांकि, कई आशंकाएं जाहिर की हैं। यह कुछ राशियों के लिए शुभ तो कुछ के लिए अशुभ परिणाम ला सकता है। साल 2022 का दूसरा चंद्र ग्रहण 8 नवंबर, मंगलवार को लग रहा है।

मंगलवार, 8 नवंबर को लगने वाला चंद्र ग्रहण 2022 भारतीय समय के अनुसार शाम 5 बजकर 32 मिनट पर शुरू होगा, जो शाम 6 बजकर 18 मिनट पर खत्म होगा। यह चंद्र ग्रहण भारत में कुछ जगहों पर नजर आएगा, जबकि देश में ग्रहण का सूतक काल प्रभावी नहीं होगा। आम तौर पर सूर्य ग्रहण 2022 या चंद्र ग्रहण 2022 को धार्मिक मान्‍यताओं के हिसाब से अशुभ माना जाता है। हालांकि, इस खास खगोलीय घटना को लेकर अलग-अलग ज्‍योतिषविदों की अपनी-अपनी मान्‍यताएं हैं।

वैज्ञानिक दृष्‍टिकोण से ग्रहण काे एक खास खगोलीय घटना के तौर पर देखा जाता है। ग्रहण के दौरान सूतक काल पर पंडित-पुरोहितों की विशेष नजर होती है। गर्भवती महिलाओं को ग्रहण काल में खास एहतियात बरतने की दरकार होती है। बुजुर्ग और बच्‍चों को भी ग्रहण के दौरान अतिरिक्‍त सावधानी बरतने की हिदायत दी जाती है। 8 नवंबर, मंगलवार को चंद्र ग्रहण 2022 शाम 5 बजकर 32 मिनट पर शुरू होगा।

जानिए, कब, क्‍यों और कैसे लगता है चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse 2022)

आइए एक नजर डालते हैं चंद्र ग्रहण 2022 की रात की तारीख, समय, अवधि और अनुष्ठानों पर। हिंदू संस्कृति के अनुसार चंद्र ग्रहण 2022 से संबंधित विभिन्न अनुष्ठान हैं, जो केवल तभी किए जाते हैं जब ग्रहण नग्न आंखों को दिखाई देता है। चूंकि यह चंद्र ग्रहण उपछाया होगा, इसलिए इसका कोई खास महत्व नहीं होगा और कोई भी वैदिक अनुष्ठान नहीं किया जाएगा। चंद्र ग्रहण 2022 को बिना दूरबीन आदि के नहीं देखा जा सकता है। चूंकि उपछाया चंद्र ग्रहण 2022 पर कोई धार्मिक गतिविधियां नहीं की जाती हैं। इसलिए हिंदू कैलेंडर में चंद्र ग्रहण 2022 का उल्लेख नहीं है।

सूतक काल के बारे में जानिए ( Chandra Grahan 2022 Sutak Kaal India)

ज्‍योतिषविदों की मानें तो चंद्र ग्रहण देखे जाने के समय के हिसाब से ही सूतक काल की गणना की जाती है। 8 नवंबर को चंद्र ग्रहण लगने पर इसका कमतर प्रभाव भारत में दिखेगा। हालांकि, देश-दुनिया में ग्रहण के असर से अशुभ की आशंका भी जताई जा रही है। उपछाया चंद्र ग्रहण के चलते इस बार ग्रहण का सूतक काल (Sutak Kaal India) हमारे देश में मान्य नहीं है। क्‍योंकि, अपने देश में धार्मिक मान्‍यताओं के लिहाज से चंद्र ग्रहण 2022 को प्रकृति और आम जनजीवन के लिए शुभ नहीं माना जाता। 8 नवंबर, मंगलवार को चंद्र ग्रहण 2022 शाम 5 बजकर 32 मिनट से शाम 6 बजकर 18 मिनट तक लगने वाला है।

चंद्र ग्रहण 2022 : तिथि, समय और अवधि (Chandra Grahan 2022 Timings In India)

चंद्र ग्रहण 2022 तारीख

चंद्र ग्रहण 8 नवंबर 2022, मंगलवार को लगेगा।

चंद्र ग्रहण 2022 : समय

चंद्र ग्रहण का प्रारंभ समय (चंद्रोदय के साथ) : शाम 5 बजकर 32 मिनट

चंद्र ग्रहण की समाप्ति समय : शाम 6 बजकर 18 मिनट

स्थानीय ग्रहण अवधि : 45 मिनट 48 सेकंड

कहां-कहां दिखेगा चंद्र ग्रहण 2022 (Chandra Grahan 2022 Visibility in India)

भारत में केवल पूर्वी हिस्सों में चंद्र ग्रहण 2022 देखने को मिलेगा। जबकि देश के बाकी हिस्सों में आंशिक चंद्र ग्रहण 2022 दिखाई देगा। जिन शहरों में पूर्ण चंद्र ग्रहण 2022 दिखाई देगा उनमें कोलकाता, सिलीगुड़ी, पटना, रांची, गुवाहाटी, काठमांडू, टोक्यो, मनीला, बीजिंग, सिडनी, जकार्ता, मेलबर्न, सैन फ्रांसिस्को, वाशिंगटन डीसी, न्यूयॉर्क शहर, लॉस एंजिल्स, शिकागो और मेक्सिको सिटी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *