Mahalaya : महालया के मौके पर तर्पण के लिए गंगा घाटों पर उमड़ा जनसैलाब

कोलकाता, 17 सितम्बर । पश्चिम बंगाल में महालया के साथ ही दुर्गा पूजा के लिये माहौल बनने लगा है। आमतौर पर महालया कलश स्थापना से एक या दो दिन पहले मनाया जाता है लेकिन आस बार अधि मास पड़ने के कारण दुर्गापूजा के 35 दिनों पहले गुरुवार को महालया की शुरुआत हो गई है। इस मौके पर कोलकाता के बागबाजार गंगा घाट, बाबूघाट, दक्षिणेश्वर मन्दिर के घाट एवं अन्य सभी घाटों पर गुरुवार तड़के पितृ तर्पण के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

हिन्‍दु धर्म की मान्‍यतानुसार इस दिन पितृगण वायु के रूप में घर के दरवाजे पर आकर दस्‍तक देते हैं तथा अपने घर परिवार वालों से श्राद्ध की इच्छा रखते हैं। वे चाहते हैं कि उनके घर परिवार वाले उनका श्राद्ध करें और उन्‍हे तृप्‍त करके दोबारा विदा करें। अकाल मृत्यु से ग्रसित व्यक्तियों का श्राद्ध भी इसी दिन होता है। एक तरफ कोरोना का खौफ लोगों के मन में बना हुआ है तो लेकिन दुर्गापूजा का उत्साह एवं भक्ति भावना कोरोना संकट की परवाह नहीं करता। इसलिए अधिकतर लोग महामारी की अनदेखी करते हुए गुरुवार को घाटों पर पूजा के लिए पहुंच गए हैं। भीड़ को सम्भालने के लिए राज्य प्रशासन की ओर से चाक चौबन्द व्यवस्था की गई है। बागबाजार घाट, अहिरिटोला घाट, काशी मिश्र घाट, जाजेस घाट समेत कोलकाता के 15 घाटों पर सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए बडी संख्या में लोगों ने अपने पितरों के निमित्त तर्पण किया ।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *