Maharashtra Update : राज्यों में मुख्यमंत्री बदलने पर शिवसेना का तंज, कहा- ‘मोदी है तो मुमकिन है’

मुंबई। शिवसेना ने अपने मुख्यपत्र सामना के जरिए बीजेपी पर तंज कसा है। सामना में प्रकाशित एडिटोरियल में लिखा गया है कि जेपी नड्डा को बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने के बाद से पार्टी में लगातार बदलाव हो रहे हैं और ये सिलसिला अभी तक रुका नहीं है।

प्रधानमंत्री मोदी के मन में जो है, वो जेपी नड्डा के जरिए करवाया जा रहा है। लेख के मुताबिक, ‘नड्डा के ही जरिए उत्तराखंड व कर्नाटक के मुख्यमंत्री बदले गए। गुजरात का मुख्यमंत्री भी एक झटके में बदल दिया गया। गुजरात में तो पूरा मंत्रिमंडल ही एक झटके में बदल दिया गया। जिन 24 मंत्रियों ने शपथ ली है, वे सभी पहली ही बार मंत्री बने हैं। मोदी-नड्डा ने ऐसा झटका दिया है कि राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है।

सामना में आगे भी लिखा गया कि आगामी विधानसभा चुनाव में इस प्रयोग से उपजे साइड इफेक्ट से पार्टी को असंतोष का जो झटका लगेगा उससे गुजरात में बीजेपी की जबरदस्त फजीहत होगी। सामना के मुताबिक, ‘ पीएम नरेंद्र मोदी के राष्ट्रीय राजनीति का सूत्रधार बनते ही बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं और दिग्गजों को मार्गदर्शक मंडल में डाल दिया गया। हाल ही में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में पुनर्गठन में कई पुराने लोगों को मोदी जी ने घर का रास्ता दिखाकर नए लोगों को जगह दी।

सामना के मुताबिक, ‘हालात तेजी से बदल रहे हैं। बीते कुछ महीने में असम को छोड़ दें तो बंगाल, केरल और तमिलनाडु में बीजेपी करारी हार का स्वाद चखना पड़ा. बंगाल में तो गृह मंत्री अमित शाह ने पूरी ताकत लगा दी थी। वहीं केरल में ई. श्रीधरन का प्रयोग भी काम नहीं आया जिसके बाद धीरे धीरे पार्टी के विपक्ष में बैठने की नौबत आ रही है। तीन राज्यों के मुख्यमंत्री बदलने के बाद मोदी-नड्डा की जोड़ी की निगाह मध्य प्रदेश, हिमाचल और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों पर है यानी मोदी है तो मुमकिन है।

सीएम उद्धव ठाकरे की ओर से शुक्रवार को एक कार्यक्रम में ‘भविष्य के साथी’ वाले बयान को लेकर कयास लग रहे हैं। दरअसल महाराष्ट्र की राजनीति में लंबी कड़वाहट का दौर फिलहाल खत्म नहीं हुआ है। औरंगाबाद के एक सरकारी कार्यक्रम में सीएम ने कहा, ‘मंच पर बैठे मेरे पूर्व, मौजूदा और यदि हम साथ आते हैं तो भविष्य के सहयोगी’। इसी बयान के बाद एक बार फिर दोनों दलों के साथ आने को लेकर कयास लग रहे हैं।

इस बीच संजय राउत ने कहा, ‘हमारी कमिटमेंट वाली सरकार है जो 5 साल चलेगी। उद्धव जी के भाषण देने का अलग स्टाइल है। उनके बयान से अगर कोई खुशी हो रहा है तो होने दीजिए। कुछ लोगों को पतंग उड़ाने में मजा आता है जबकि वो जानते हैं कि पतंग कट भी जाती है। बीजेपी में ऐसे लोग है जो शिवसेना भवन को तोड़ने की बात करते हैं। कुछ लोग मारपीट की बात करते हैं तो ऐसे लोगो से कैसा गठबंधन यानी गठबंधन हमने नहीं उन्होंने तोड़ा है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *