ममता कैबिनेट के मंत्री पार्थ और अर्पिता को मेडिकल जांच के लिए ले जाया गया ईएसआई अस्पताल

कोलकाता, 27 जुलाई । पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार किए गए ममता कैबिनेट के मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी महिला सहयोगी अर्पिता मुखर्जी को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारी दोबारा मेडिकल जांच के लिए जोका ईएसआई अस्पताल ले गए हैं। बुधवार सुबह करीब 10:30 बजे दोनों को लेकर ईडी अधिकारी सॉल्ट लेक सीजीओ कंपलेक्स से रवाना हुए।

इनके सुरक्षा दस्ते में सीआरपीएफ जवानों के अलावा बिधाननगर पुलिस कमिश्नरेट की टीम शामिल थी। दोनों को लेकर ईएसआई जोका अस्पताल पहुंचे ईडी अधिकारियों ने मीडिया से बात करने से इंकार कर दिया। पार्थ ने भी कुछ नहीं कहा है। सूत्रों ने बताया है कि यह रूटीन जांच है और सेहत का नियमित अपडेट रखने के लिए उन्हें चिकित्सकीय जांच के लिए लाया गया है। इसके बाद एक बार फिर उनसे पूछताछ का दौर शुरू होगा।

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार मामले में अर्पिता और पार्थ दोनों को गिरफ्तार किया गया है। अर्पिता के घर से करोड़ों रुपये नगदी जेवर और विदेशी मुद्रा मिले हैं जबकि पार्थ के घर से शिक्षक नियुक्ति से संबंधित वे सारे दस्तावेज बरामद हुए हैं। इस मामले में दोनों से लगातार पूछताछ हो रही है। ईडी के सूत्रों के अनुसार अर्पिता तो जांच में सहयोग कर रही है लेकिन पार्थ सवालों के संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे हैं।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.