National : मोदी का दो बार प्रधानमंत्री बनने की वजह कांग्रेस का कमजोर नेतृत्व : ओवैसी

विजयपुरा 25 अक्टूबर : ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस की अवसरवादी राजनीति और श्री राहुल गांधी समेत उसके कमजोर नेतृत्व के कारण श्री नरेंद्र मोदी दो बार प्रधानमंत्री बने।

श्री ओवैसी ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में यह बात कही। भाजपा को चुनाव जीतने में मदद करने के लिए मुसलमानों के वोटों को विभाजित करने संबंधी आरोपों के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा,“श्री राहुल गांधी अमेठी से हार गए। क्या मैं इसके लिए जिम्मेदार हूं? वह वायनाड से जीते। वहां 30 से 35 प्रतिशत मुसलमान हैं। महाराष्ट्र में कांग्रेस ने शिवसेना को धर्मनिरपेक्ष पार्टी बताकर उसका समर्थन किया। यह उनकी (कांग्रेस) की अवसरवादी राजनीति रही है और इसलिए नरेंद्र मोदी दो बार प्रधानमंत्री बने। क्यों? कांग्रेस नेतृत्व और कांग्रेस पार्टी के कारण, मेरी वजह से नहीं।”

उन्होंने आगे कहा कि अपनी दयनीय स्थिति के लिए कांग्रेस खुद जिम्मेदार है। उन्होंने कहा, “मुझे प्रेस या किसी राजनीतिक दल से किसी प्रमाणपत्र की आवश्यकता नहीं है। मुझे प्रमाणपत्र के साथ क्या करना चाहिए? क्या मुझे इसे पहनना चाहिए और पुरस्कार घूमना चाहिए।”

उन्होंने कहा कि चुनावों में भाजपा को फायदा पहुंचाने के लिए एआईएमएम और उसके नेतृत्व को दोष देने के बजाय कांग्रेस पार्टी को स्वयं आत्मनिरीक्षण करना चाहिए। उन्होंने कहा कि गुजरात में 16 विधायकों ने कांग्रेस पार्टी छोड़ी। कांग्रेस के विधायकों ने कर्नाटक और मध्य प्रदेश में भी पार्टी छोड़ी। राजस्थान में राजस्थान कांग्रेस में अंदरूनी कलह है।

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने केवल 50 सीटें जीती हैं। इसलिए, उनके लिए आत्मनिरीक्षण करने का समय है। कांग्रेस को लगता है कि अल्पसंख्यक समुदाय से किसी को भी समाज के कमजोर वर्गों के लिए नहीं बोलना चाहिए।

श्री ओवैसी ने अगले साल होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए जनता दल-सेक्युलर (जद-एस) के साथ किसी भी संभावित गठबंधन से भी इनकार किया। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने कर्नाटक में पिछला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा था और तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सुप्रीमो के चंद्रशेखर राव के अनुरोध पर जद-एस के लिए प्रचार किया था। उन्होंने कहा,“इस बार ऐसा नहीं होगा। मैं अपना कर्तव्य निभा रहा हूं और वे अपना कर्तव्य निभा रहे हैं।”

अशोक.संजय

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *