National : प्रधानमंत्री ने भूटान में रुपे कार्ड के दूसरे चरण की शुरुआत की

नई दिल्ली, 20 नवम्बर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए भूटान में अपने समकक्ष लोटे शेरिंग के साथ रुपे कार्ड के दूसरे चरण की शुरुआत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि डिजिटल, अंतरिक्ष और तकनीक दोनों देशों और उनके युवाओं के बीच जुड़ाव के नए सूत्र साबित होंगे।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष पहले चरण की शुरुआत के दौरान उनकी भूटान यात्रा में डिजिटल, अंतरिक्ष और उभरती तकनीक जैसे नए क्षेत्रों में सहयोग की शुरुआत की गई थी। यह तीनों क्षेत्र दोनों देशों और उनकी युवा पीढ़ियों के बीच जुड़ाव के नए सूत्र साबित होंगे।

उन्होंने कहा कि इससे पहले भारतीय नागरिकों को भारतीय बैंकों द्वारा जारी किए कार्ड से भूटान में भुगतान की सुविधा मिली थी और अबतक इससे जुड़े 11 हजार ट्रांजैक्शन हो चुके हैं। दूसरे चरण में हम भूटान को रुपे कार्ड नेटवर्क का पूर्ण सहयोगी बनाने जा रहे हैं, जिससे रुपे कार्ड धारक भारत में एक लाख से अधिक एटीएम और 20 लाख से अधिक पॉइंट ऑफ सेल टर्मिनल में भुगतान सुविधा का उपयोग कर सकेंगे। उन्हें विश्वास है कि इससे भूटान के यात्रियों को भारत में शिक्षा, स्वास्थ्य, तीर्थ यात्रा और पर्यटन में सुविधा होगी। इसे भूटान में डिजिटल ट्रांजेक्शन बढ़ाने में मदद मिलेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अंतरिक्ष क्षेत्र दोनों देशों के बीच संबंध संपर्कों को मजबूत करने में दूसरा महत्वपूर्ण क्षेत्र है। भारत ने अंतरिक्ष तकनीक का उपयोग सदैव विकास के उद्देश्य की पूर्ति के लिए किया है। भारत और भूटान इस उद्देश्य को साझा करते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले वर्षों में भूटान ने दक्षिण एशिया सेटेलाइट का उपयोग प्रसारण और आपदा प्रबंधन के लिए किया है। पिछले दिन हमने बाहरी अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उपयोग में सहयोग बढ़ाने के उद्देश्य से फ्रेमवर्क दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए थे। इससे दोनों देशों की विभिन्न संस्थाओं के बीच सहयोग का मार्ग प्रशस्त होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविड संकट में भूटान की जनता ने धैर्य और अनुशासन दिखाया है। वह विश्वास दिलाना चाहते हैं कि इस कठिन समय में भारत भूटान के साथ खड़ा हैं, और भूटान की आवश्यकताएं हमारे लिए सदैव उच्चतम प्राथमिकता रहेंगी।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *