National : स्वतंत्रता सेनानियों के गरीब उत्तराधिकारियों को आर्थिक मदद की सिफारिश

नयी दिल्ली, 04 अगस्त : आजादी की लड़ाई में भाग लेने वाले स्वाधीनता सेनानियों के परिजनों का प्रतिनिधित्व कर रहे एक मंच ने सरकार से दिल्ली में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्मारक स्थल स्थापित करने और स्वतंत्रता सेनानियों के आर्थिक रूप से दुर्बल परिवार को आर्थिक मदद दिए जाने की सिफारिश की है।
स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवार समिति (पंजी) ने गुरुवार को दिल्ली में संवाददाता सम्मेलन में घोषणा कि छह अगस्त को देश भर में जिला मुख्यालयों पर ‘स्वतंत्रता संग्राम सेनानी सम्मान यात्रा’ निकाली जाएगी।
समिति के संयोजक जितेन्द्र रघुवंशी ने कहा कि समिति के तत्वावधान में छह-सात मई को इंदौर में ऐसे परिवारों के विभिन्न संगठनों के सम्मेलन में एक राष्ट्रीय समन्वय समिति का गठन किया गया है। समन्वय सिमित की दिल्ली में गुरुवार को हुई तीसरी बैठक में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी परिवारों के हितों की रक्षा के लिए राष्ट्रपति तथा प्रधानमंत्री को प्रतिवेदन देने का निर्णय किया गया है।
उन्होंने कहा कि इस प्रतिवेदन में दिल्ली में स्ततंत्रता सेनानी स्मारक की स्थापना और उनके गरीबी की हालत में जी रहे परिवारों की आर्थिक मदद के अलावा स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवार आयोग के गठन और स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवारों को राष्ट्रीय परिवार का दर्जा जैसी मांगें शामिल करने का निर्णय किया गया है।
श्री रघुवंशी ने कहा, “आजादी का अमृत महोत्सव 15 अगस्त 2022 को सम्पन्न हो जाएगा। केंद्र तथा राज्य सरकारों द्वारा देशभर में इस पर्व को विविध प्रकार से मनाया गया, इससे जनमानस में स्वतंत्रा सेनानियों, शहीदों तथा उनके परिवारों के प्रति सम्मान का भाव परिलक्षित हुआ।’ उन्होंने कहा, “आजादी के शताब्दी समारोह तक ‘स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के भारत बनाने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के लिए हम सरकार के प्रति हृदय से आभारी हैं। ”
संवाददाता सम्मेलन में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भारत भूषण विद्यालंकार,शहीद मंगल पांडे के प्रपौत्र रघुनाथ पांडे, जगदीश वत्स के भांजे गोपाल नारसन और संगठन से जुड़े कई अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे।
मनोहर.श्रवण
वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.