National : सोनाली फोगाट को पार्टी में दिया गया था नशा : आईजीपी

पणजी 26 अगस्त: गोवा पुलिस ने शुक्रवार को दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी की नेता और अभिनेत्री सोनाली फोगाट को एक पार्टी में नशीला पदार्थ दिया गया और उन्हें जबरदस्ती जहरीला रसायन दिया गया।

पुलिस महानिरीक्षक ओमवीर सिंह बिश्नोई ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “आरोपी सुधीर सागवान और सुखविंदर वासी ने पूछताछ के दौरान कई बातें उजागर हुई हैं। मामले की सभी कोणों से जांच की जाएगी।”

पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुधीर और सुखविंदर ने सोनाली के शराब में नशीला पदार्थ मिलाने की बात कबूल की है।

सुधीर और सुखविंदर को गुरुवार को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था।

सोनाली के भाई रिंकू ढाका ने बुधवार को अंजुना पुलिस के समक्ष अपनी शिकायत में दोनों का नाम लिया था। दोनों आरोपी सोनाली के साथ गोवा गए थे।

श्री बिश्नोई ने कहा कि हत्या के पीछे आर्थिक हित एक कारण हो सकता है। उन्होंने हालांकि, यह भी कहा कि सही कारण का पता आरोपियों से आगे की पूछताछ के बाद ही चल पाएगा।

उन्होंने कहा कि आरोपियों के साथ पार्टी में देखी गई दो महिलाओं की पहचान कर ली गई है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

शुरू में यह बताया गया था कि सोनाली की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई थी, लेकिन बाद में किए गए पोस्टमॉर्टम से पता चला कि उसके शरीर पर कई कुंद चोटें थीं।

आईजीपी ने कहा कि डॉक्टरों ने शुरुआत में मौत का कारण दिल का दौरा बताया क्योंकि शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं थे।

इस बीच विपक्षी दलों ने सोनाली की मौत को लेकर प्रमोद सावंत के नेतृत्व वाली सरकार पर हमला तेज कर दिया है।

पूर्व उपमुख्यमंत्री और गोवा फॉरवर्ड पार्टी के अध्यक्ष विजय सरदेसाई ने डॉ सावंत पर सोनाली मामले को निष्कर्ष पर पहुंचने का आरोप लगाया है। उन्होंने ट्वीट किया,“कोई भी डॉक्टर व्हाट्सएप पर मौत की खबर पढ़कर मौत का कारण बता सकता है। बेखबर और समय से पहले निष्कर्ष पर पहुंचकर डा. प्रमोद सावंत ने न केवल इस संवेदनशील मामले को उलटी धार देने की कोशिश कर रहे हैं बल्कि एक बार फिर उनके लिए संदेह पैदा किया है।”

गोवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष गिरीश चोडनकर ने घटना की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

उन्होंने कहा, “सरकार को निष्पक्ष जांच के लिए पुलिस और जीएमसी (गोवा मेडिकल कॉलेज) को खुली छूट देनी चाहिए। हमें गोवा आने वाले पर्यटकों को उनकी सुरक्षा के बारे में स्पष्ट संकेत देना चाहिए ताकि हमारे पर्यटन उद्योग को नुकसान न हो।”

इस बीच मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है कि राज्य के पुलिस महानिदेशक जांच की निगरानी कर रहे हैं और पुलिस को मामले में कार्रवाई करने की पूरी आजादी है।

संजय सैनी

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *