National Update : कोरोनावायरस रोधी टीकाकरण के बाद भी सावधानी आवश्यक: उद्धव ठाकरे

मुंबई, 16 जनवरी । मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोनावायरस रोधी टीका लेने के बाद भी सावधानी रखना आवश्यक है। कोरोना वायरस रोधी टीका ही कोरोना को पराजित करने का अंतिम हथियार नहीं है। उन्होंने कहा कि लोगों को पहले से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना भी जरूरी है। इसलिए सभी लोग सामाजिक दूरी का पालन, मास्क का उपयोग व सेनेटाइजर का प्रयोग करते रहें। मुख्यमंत्री ने कहा सरकार किसी भी कीमत पर कोरोना वायरस रोधी टीके की कालाबाजारी नहीं होने देगी।

मुंबई के बांद्रा कुर्ला काम्लेक्स (बीकेसी) स्थित कोरोना उपचार केंद्र में शनिवार को मुख्यमंत्री ठाकरे ने कोरोना वायरस रोधी टीकाकरण का शुभारंभ किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह क्रांतिकारी कदम है। इससे पहले जब कोरोना का प्रादुर्भाव हुआ था, तब किसी को इस बारे में पता ही नहीं था। सभी ओर हा-हाकार मचा हुआ था। सरकार ने कोरोना उपचार केंद्रों के साथ अतिरिक्त बेड का भी इंतजाम किया। इसी केंद्र पर कोरोना मरीजों की भीड़ लगी रहती थी लेकिन स्वास्थ्य कर्मियों की वजह से आज इसी केंद्र से कोरोना वायरस रोधी टीकाकरण की शुरुआत की जा रही है।

उन्होंने कहा कि टीकाकरण ही कोरोना वायरस को समाप्त करने का अंतिम उपाय नहीं है। इसलिए लोगों को पहले से जारी सरकारी निर्देशों का पालन करना भी जरूरी है। केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश के मुताबिक ही कोरोना वायरस का टीका पहले कोरोना वॉरियर्स को दिया जा रहा है। केंद्र सरकार से कोरोना का टीका उपलब्ध होने के बाद यह सभी नागरिकों को भी दिया जाने वाला है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस टीके के बारे में किसी भी तरह की अफवाह न फैलाएं और संबंधित अफवाहों पर विश्वास भी न करें।

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने जालना में कोरोना वायरस रोधी टीकाकरण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि पहले चरण में कोरोना वारियर्स को टीका दिया जा रहा है। इसी तरह नागपुर, पुणे, नासिक,
अमरावती आदि जिलों में कोरोना वॉरियर्स को कोरोना वायरस रोधी का टीका दिए जाने का काम शुरू हो गया है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *