National Update : कोरोना काल में जीवनदायिनी सिद्ध हो रहा है पीएम केयर फंड : नड्डा

नयी दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी ( भाजपा ) अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने शुक्रवार को कहा कि कोविड के संक्रमण काल में ‘पीएम केयर फंड’ जीवनदायिनी सिद्ध हो रहा है जिससे देश भर में टीकाकरण अभियान, ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना, अस्थायी अस्पताल और ‘आरटीपीसीआर’ परीक्षण प्रयोगशालाओं की स्थापना के लिए सहायता प्रदान की जा रही है।

श्री नड्डा ने यहां आभासी माध्यम से भाजपा किसान मोर्चा के कार्यक्रम ‘ एक जिला एक स्वास्थ्य सामुदायिक केंद्र सहायता शिविर’ का उद्घाटन किया जिसके तहत देश भर के 824 सामुदायिक केन्द्रों की शुरुआत करके कोविड ज़रूरतमंदों की सहायता की जाएगी ।

इस अवसर पर श्री नड्डा ने कहा , “ आज मुझे इस बात की खुशी है कि ‘सेवा ही संगठन’ और ‘मेरा बूथ-कोरोना मुक्त’ अभियान के तहत भाजपा किसान मोर्चा देश के सभी ज़िलों के ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कोविड सहायता शिविर लगाने की जिम्मेदारी ले रहा है।”

उन्होंने कहा, “ कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत में ही हमने सेवा ही संगठन-2 अभियान शुरु किया। आज पार्टी के लाखों कार्यकर्ता अपनी फिक्र न करते हुए, दिन-रात अस्पतालों, स्वास्थ्य संस्थानों में, प्रशासन के साथ मिलकर दवाइयां, बैड, ऑक्सीजन और भोजन की व्यवस्था में लगे हैं।”

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत 14 मई को 9.5 करोड़ किसानों के बैंक खाते में इस योजना की आठवीं किस्त जारी करने के लिए हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करते हैं।

भाजपा किसान मोर्चा के इस कार्यक्रम के उद्घाटन के मौके पर किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजकुमार चहर, भाजपा के महामंत्री भूपेंद्र यादव सहित कई राष्ट्रीय पदाधिकारी मौजूद रहे।

इस अभियान को और मजबूत करने के लिए किसान मोर्चा के कार्यकर्ता देश के प्रत्येक ज़िले के एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कोविड सहायता शिविर ललगाकर जरूरतमंद लोगों की सेवा एवं जन जागृति करेंगे। इस शिविर में किसान मोर्चा के कार्यकर्ता टीकाकरण अभियान के प्रति ग्रामीण अंचल में जनजागृति के साथ-साथ आरोग्य सेतु एप पर उनका पंजीकरण कराएंगे ताकि अधिक से अधिक लोगों का सफलतापूर्वक टीकाकरण हो सके।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES