National Update: रेल मंत्री ने कोेरोना महामारी को लेकर की अधिकारियों से चर्चा

Insight Online News

नई दिल्ली। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेल अधिकारियों के साथ कोरोना महामारी को लेकर रेलवे की तरफ से किया जा रहे प्रभावी कामों पर चर्चा की। रेलवे वर्तमान में यात्री ट्रेन परिचालन के अलावा कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग करते हुए ‘कोविड केयर कोच’ और ऑक्सीजन एक्सप्रेस चला रही है। 

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा, “अपने ज़ोन और डिवीजनों के कामकाज की समीक्षा करने के लिए आज रेलवे के अधिकारियों के साथ एक बैठक आयोजित की। सामूहिक रूप से कोरोना महामारी के खिलाफ रेलवे द्वारा की जा रही तीव्र और प्रभावी पहल पर चर्चा की। 

बैठक से अलग रेलवे द्वारा राज्यों में कोविड मरीजों के लिए बेड की व्यवस्था करने के संबंध में रेल मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि महाराष्ट्र, दिल्ली और मध्य प्रदेश में भारतीय रेलवे के ‘कोविड केयर कोच’ में अब तक 103 मरीजों को भर्ती कराया गया है। इनमें से 39 को डिस्चार्ज किया जा चुका है। 

वर्तमान में 64 कोविड मरीज इन आइसोलेशन कोचों का उपयोग कर रहे हैं। रेलवे ने महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश सहित देश के नौ रेलवे स्टेशनों पर 64 हजार बिस्तरों की क्षमता वाले 4 हजार ‘कोविड केयर कोच’ के तैनात किया है। 

रेल मंत्रालय के अनुसार, वर्तमान में कोविड मरीजों की देखभाल के लिए विभिन्न राज्यों को 2,990 बेड की क्षमता के साथ 191 कोच सौंपे गए हैं। मौजूदा समय में आइसोलेशन कोचों का इस्तेमाल दिल्ली, महाराष्ट्र (अजनी आईसीडी, नांदरूबार), मध्य प्रदेश (इंदौर के करीब तीही) में किया जा रहा है। रेलवे ने उत्तर प्रदेश के बड़े शहरों जैसे; फैजाबाद, भदोही, वाराणसी, बरेली और नजीबाबाद में भी 50 कोच लगाए हैं। 

वर्तमान में महाराष्ट्र के नांदरूबार में 58 मरीज इस सुविधा का इस्तेमाल कर रहे हैं। अब तक राज्य स्वास्थ्य प्राधिकारियों द्वारा मरीजों के डिस्चार्ज के साथ कुल 85 भर्ती मरीज पंजीकृत किए गए हैं। अभी भी 330 बेड उपलब्ध हैं। 

रेलवे ने दिल्ली में 1,200 बिस्तरों की क्षमता के साथ 75 कोविड केयर कोचों की राज्य सरकार की मांग को पूरा किया है। इनमें से 50 कोच शकूरबस्ती और 25 कोच आनंद विहार स्टेशन पर तैनात हैं। अब तक इनमें 5 भर्ती मरीज पंजीकृत किए गए हैं। 1,196 बेड अभी भी उपलब्ध हैं। 

मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा दो कोचों की मांग के संबंध में पश्चिमी रेलवे के रतलाम डिवीजन ने इंदौर के पास तीही स्टेशन पर 320 बेड की क्षमता वाले 22 कोच तैनात किए हैं। वहीं भोपाल में 20 कोच तैनात किए गए हैं। नवीनतम आंकड़ों के अनुसार एक डिस्चार्ज के साथ इनमें 13 मरीजों को भर्ती किया गया। इनमें अभी 280 बेड उपलब्ध हैं। 

हालांकि उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा अब तक कोचों की मांग नहीं की गई है, फैजाबाद, भदोही, वाराणसी, बरेली और नजीबाबाद में कुल 800 बिस्तरों (50 कोच) की क्षमता के साथ प्रत्येक स्थान में 10 कोच रखे गए हैं। 

एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *