National Update : नायक फिल्म की तरह पहली बार उत्तराखंड में एक दिन की सीएम बनी सृष्टि गोस्वामी

देहरादून : उत्तराखंड की रहने वाली सृष्टि गोस्वामी आज एक दिन की सीएम बनेंगी। बता दें, आज बालिका दिवस है। ऐसे में इस दिन को और खास बनाने के लिए ऐसा फैसला किया गया है। सृष्टि को एक दिन का सीएम बनाने के लिए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की भी मंजूरी मिल गई है। बाल आयोग की पहल पर सृष्टि गोस्वामी को सरकार ने एक दिन का बाल सीएम बनने का अवसर दिया है।

गौरतलब है कि ऐसा भारत में पहली बार होने ऐसा होने जा रहा है, जब सीएम के रहते हुए कोई और एक दिन के लिए किसी प्रदेश का मुख्यमंत्री बन रहा है। सृष्टि गोस्वामी सिर्फ रविवार को एक दिन के लिए सीएम बनेंगी और बतौर बाल सीएम वो विधानसभा में बैठकर सरकार का काम काज देखेंगी। सृष्टी आज दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक विधानसभा भवन विभागीय समीक्षा बैठक करेंगी।

इधर, सृष्टि की इस कामयाबी पर उससे माता पिता की खुशी का ठिकाना ही नहीं है. उसके परिवार वालों ने उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार के प्रति आभार जताया है और कहा है कि उनकी बेटी को यह मिलना उनके लिए गर्व की बात है। साथ ही उनके पिता ने यह कहा कि, यह एक उदाहरण है कि बेटियां किसी के कम नहीं है, जब एक बेटी ऐसा मुकाम हासिल कर सकती है तो और कोई भी बेटी ऐसा कर सकती है।

बता दें, आज विधानसभा में सृष्टी पीडब्ल्यूडी, पर्यटन विकास परिषद, सिंचाई विभाग, महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण विभाग समेत और कई विभागों की समीक्षा करेंगी। जिसमें इन विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

अधिकारी देंगे प्रजेंटेशन

हरिद्वार के बहादुराबाद ब्लॉक के दौलतपुर गांव की रहने वाली किशोरी सृष्टि गोस्वामी रविवार यानी आज एक दिन के लिए उत्तराखंड की मुख्यमंत्री बनने की तैयारी में हैं। राष्ट्रीय बालिका दिवस 2021 के मौके पर सृष्टि एक दिन के लिए सीएम की कुर्सी पर काबिज होंगी और दौरान वह राज्य में हुए विकास कार्यों की समीक्षा करेंगी और इस दौरान अधिकारी उन्हें इन कार्यों की प्रजेंटेशन भी देंगे।

कौन है सृष्टि

राष्ट्रीय बालिका दिवस के विशेष अवसर पर एक दिन के लिए पहाड़ी राज्य की कमान संभालने वाली सृष्टि वह बीएसएम पीजी कॉलेज रुड़की में बीएससी (कृषि) सातवें सेमेस्टर की छात्रा है और हरिद्वार जिले के दौलतपुर गांव की निवासी है। मई 2018 में, वह उत्तराखंड बाल विधानसभा की मुख्यमंत्री बनीं थी। उनके पिता प्रवीण पुरी एक परचून की दुकान चलाते हैं, जबकि उनकी माँ सुधा गोस्वामी एक गृहिणी हैं। सृष्टि के पिता इस कदर खुश हैं कि वो अपनी खुशी को बयां नहीं कर पा रहे हैं। प्रवीण पुरी कहते हैं कि आज उनका सर गर्व से ऊंचा हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES