HindiJharkhand NewsNews

चमेली झरना से लापता हुए जमन अब्बास उर्फ गोलू को खोज के लिए एनडीआरएफ की टीम नहीं आई

झारखंड सरकार और हजारीबाग जिला प्रशासन से गुहार की बच्चा की खोज जाए

रांची: इचाक पदमा सीमा स्थित चर्चित चमेली झरना घूमने गया एक किशोर बीते दिनों रहस्यमय ढंग से लापता हो गया। लापता किशोर की पहचान जमन अब्बास उर्फ गोलू 16 वर्ष, पिता जफर अब्बास, जैन धर्मशाला गली (जामा मस्जिद रोड) हजारीबाग है। जफर के दोस्त ने बताया कि दोपहर में गोलू घर से निकला। इसकी जानकारी गोलू ने किसी को नहीं दी। बाहर में उसके छह दोस्त साथ हो लिए जिसके बाद सभी चमेली झरना चले गए। जब घर लौटने का समय आया तो अन्य दोस्तों ने गोलू को साथ में न देख खोजबीन करने लगे। खोजबीन में गोलू का कहीं पता नहीं चला तो दोस्तों ने उसके परिजन और इचाक पुलिस को सूचना दे दी। इस मामले को लेकर रांची में प्रेस को संबोधित करते हुए सैयद फराज अब्बास, फराज अहमद और सैयद हसनैन जैदी ने कहा कि झारखंड सरकार और आपदा प्रबंधन विभाग को तुरंत कार्रवाई करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बच्चों के लापता हुए 12 घंटा से अधिक हो गया है अभी तक एनडीआरएफ और आपदा प्रबंधन की टीम उस स्थान पर नहीं पहुंची है। हजारीबाग जिला प्रशासन और एनडीआरएफ की टीम अलग अलग बहाना बना रही है। इस संबंध में हम लोगों ने लगातार हजारीबाग उपायुक्त और हजारीबाग के वरीय पुलिस अधीक्षक से बात कर रहे हैं लेकिन अभी तक कुछ भी नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि एक आपातकालीन जरूरत के तहत भी जब एनडीआरएफ की टीम 12 घंटा में भी नहीं आ पाई है तो इसमें पूरी तरह से झारखंड सरकार और जिला प्रशासन का नाकामी साबित होता है। झारखंड सरकार द्वारा हजारीबाग जिला प्रशासन से आग्रह है कि वह जल्द से जल्द टीम भेज कर खोज करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *