Neet exam : पहली बार मलयालम और पंजाबी सहित 13 भाषाओं में होगी नीट परीक्षा : धर्मेंद्र प्रधान

नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने मंगलवार को घोषणा की कि पहली बार मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-यूजी 13 भाषाओं में आयोजित की जाएगी। इसमें पंजाबी और मलयालम नए जोड़े गये हैं। इसके साथ ही मध्य पूर्व में भारतीय छात्रों की सुविधा के लिए कुवैत में राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा (नीट) के लिए पहली बार नया परीक्षा केंद्र खोला गया है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री प्रधान ने मंगलवार को ट्वीट किया, “एनईईटी (यूजी) 2021 के लिए पंजीकरण आज (13 जुलाई) शाम 5 बजे से http://ntaneet.nic.in पर शुरू हो गया है। मध्य पूर्व में भारतीय छात्र समुदाय की सुविधा के लिए नीट (यूजी) परीक्षा के इतिहास में पहली बार कुवैत में एक परीक्षा केंद्र खोला गया है।”

प्रधान ने कहा, “एनईईटी (यूजी) 2021 पहली बार नई जोड़ी गई पंजाबी और मलयालम सहित 13 भाषाओं में आयोजित की जाएगी।” उन्होंने कहा, “अब यह परीक्षा हिंदी, पंजाबी, असमिया, बंगाली, उड़िया, गुजराती, मराठी, तेलुगु, मलयालम, कन्नड़, तमिल, उर्दू और अंग्रेजी में होगी।”

शिक्षा मंत्री प्रधान ने सोमवार को घोषणा की थी कि देश भर के मेडिकल संस्थानों में दाखिले के लिए 12 सितम्बर को नीट- 2021 आयोजित की जाएगी। उल्लेखनीय है कि पहले यह परीक्षा एक अगस्त को होने वाली थी।

स्नातक चिकित्सा और दंत चिकित्सा पाठ्यक्रमों में प्रवेश की पात्रता के लिए नीट को पास करना आवश्यक है। हर साल कम से कम 14 लाख छात्र मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए उपस्थित होते हैं। कोरोना के मद्देनजर 155 के बजाय परीक्षा अब 198 शहरों में आयोजित होगी। इतना ही नहीं परीक्षा केंद्रों की संख्या भी पिछले साल के 3862 केंद्रों से बढ़ाई जाएगी।

पिछले साल नीट 13 सितंबर को आयोजित हुई थी। इसमें कुल 13.66 लाख उम्मीदवार शामिल हुए थे और उनमें से 7,71,500 ने क्वालिफाई किया था। 

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *