दाऊद इब्राहिम पर एनआईए ने 25 लाख के इनाम की घोषणा की, ‘डी’ कंपनी गैंग वालों पर भी 15-20 लाख का इनाम

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अंडरवर्ल्ड गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम और उसके ‘डी’ कंपनी गैंग से जुड़े लोगों के बारे में जानकारी देने के लिए नकद इनाम राशि देने की घोषणा की है। अंडरवर्ल्ड गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम के लिए एनआईए ने 25 लाख के इनाम की घोषणा की है।

एनआईए ने बुधवार को कहा कि दाऊद इब्राहिम ने अपने सहयोगियों के लिए ‘डी’ कंपनी, इब्राहिम के गिरोह से संबंधित जांच में, हथियारों, विस्फोटकों, ड्रग्स और नकली भारतीय मुद्रा नोट (एफआईसीएन) की तस्करी के लिए भारत में एक इकाई बनाए हैं। और पाकिस्तानी एजेंसियों और आतंकी संगठनों के साथ मिलकर आतंकवादी हमले करने की भी प्लानिंग करता है।

समाचार एजेंसी के मुताबिक एनआईए ने दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम उर्फ हाजी अनीस के लिए भी इनाम की घोषणा की है, करीबी सहयोगी जावेद पटेल उर्फ जावेद चिकना, शकील शेख उर्फ छोटा शकील, और इब्राहिम मुश्ताक अब्दुल रज्जाक मेमन उर्फ टाइगर मेमन के लिए भी इनाम की घोषणा की है। अधिकारी ने कहा कि दाऊद इब्राहिम के लिए इनाम की राशि 25 लाख रुपये है, जबकि एजेंसी ने छोटा शकील के लिए 20 लाख रुपये और अनीस, चिकना और मेमन के लिए 15-15 लाख रुपये की घोषणा की है।

बता दें कि एजेंसी का ऐसा दावा है कि दाऊद पाकिस्तान के कराची में है। 1993 के मुंबई सीरियल विस्फोटों सहित भारत में कई आतंकी गतिविधियों के लिए वांछित दाऊद इब्राहिम पर पहले से ही $25 मिलियन का इनाम है। 2003 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने इस इनाम की घोषणा की थी।

इब्राहिम लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के प्रमुख हाफिज सईद, जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) प्रमुख मौलाना मसूद अजहर, हिजबुल मुजाहिदीन के संस्थापक सैयद सलाहुद्दीन और उसके करीबी अब्दुल रऊफ असगर के साथ भारत के सबसे वांछित लोगों में शामिल है।

एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *