एनआईए ने मोस्ट वांटेड पर ररवा तीन लाख का इनाम

मेंगलुरु 22 नवंबर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने कर्नाटक के मेंगलुरु कुकर ब्लास्ट मामले में मोस्ट वांटेड संदिग्ध मतीन ताहा को खोजने के लिए तीन लाख रुपये के इनाम की घोषणा की है।

आधिकारिक सूत्रों ने यहां यह जानकारी दी। एनआईए मेंगलुरु कुकर विस्फोट मामले की जांच कर रही है।
यह याद कर मतीन की मां की आंखों में आंसू आ गए। मेरा बेटा पिछले तीन साल से लापता है और मुझे नहीं पता कि वह कहां है। वह बेंगलूरु में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था और महज तीन साल में इंजीनियरिंग की डिग्री पूरी करने के बाद वह बेंगलुरु में एक निजी कंपनी में काम कर रहा था।

उन्होंने कहा कि तीन साल पहले बेंगलुरु से लापता हुए मतीन से उसके बाद से कोई संपर्क नहीं हुआ है। शारिक और मेजर एक दूसरे को जानते थे क्योंकि वे एक ही शहर से थे।
उन्होंने कहा कि अगर मेरे बेटे ने कुछ गलत किया है तो उसे सजा मिलनी चाहिए।

मेरा बेटा 29 साल का है। वह हमारा सबसे बड़ा बेटा है, उसका एक भाई और एक बहन है, और हम अभी भी नहीं जानते कि सभी के लिए बहुत प्यार एवं विश्वास रखने वाले मतीन ने ऐसा क्यों किया।
मतीन की मां ने अपने बेटे को विलाप करते हुए कहा,“आज भी पूरे परिवार के लोग आंसुओं में हाथ धो रहे हैं और अभी भी इस सदमे से उबर नहीं पा रहे हैं।”

एनआईए मतीन की गुप्त सूचना देने वाले को तीन लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा पहले ही कर चुकी है। मतीन रिटायर्ड फौजी मंजूर अहमद और शाहिस्ता का बेटा है। अब मतीन की मां भी चाहती है कि उसके बेटे ने कुछ गलत किया हो तो उसे सजा मिले।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *