NIA Court Elgar Parishad Case Update : स्टैन स्वामी को जमानत देने से एनआईए अदालत ने किया इनकार

Insight Online News

मुंबई। विशेष एनआईए अदालत ने सोमवार को एल्गार परिषद मामले में गिरफ्तार आदिवासी अधिकार कार्यकर्ता एवं जेसुइट पुजारी  स्टैन स्वामी को जमानत देने से इनकार कर दिया। अतिरिक्त सत्र अदालत के जज डीई कोथालिकर ने 83 वर्षीय स्वामी जमानत याचिका मेरिट के साथ साथ चिकित्सीय आधार पर भी खारिज कर दी।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने स्वामी को अक्तूबर, 2020 में रांची से गिरफ्तार किया गया था और वह फिलहाल नवी मुंबई की तालोजा जेल में बंद है। सुनवाई के दौरान स्वामी के वकील ने अदालत को बताया कि उनका मुवक्किल पार्किंसन बीमारी से ग्रस्त हैं और दोनों कान से सुन नहीं पाते है। इसके अलावा उन्हें कई अन्य बीमारी भी हैं।

स्वामी ने अपने याचिका में यह भी कहा कि उनका नाम यहां तक कि वास्तविक प्राथमिकी में नहीं था और पुलिस ने उनका नाम संदिग्ध आरोपी के रूप में 2018 में रिमांड आवेदन में जोड़ा।

स्वामी ने कहा कि वह दलितों और आदिवासियों के लिए काम करते हैं, न कि माओवादियों के लिए। एनआईए की ओर से पेश विशेष लोक अभियोजक प्रकाश शेट्टी ने स्वामी की जमानत याचिका का विरोध किया और कहा कि वह प्रतिबंधित भाकपा माओवादी से जुड़े थे।

इसने यह भी दावा किया कि उसे स्वामी के लैपटाॅप से प्रतिकूल सामग्री भी मिली थी और एजेंसी के पास साजिश में उनकी संलिप्तता साबित करने के सबूत हैं।

स्वामी के वकील शरीफ शेख ने दलील दी कि एनआईए स्वामी के एल्गार परिषद-माओवादी से संपर्क होने की बात साबित करने में नाकाम रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *