Nirav Modi News : नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पित किए जाने में अभी भी एक बड़ी मुश्किल, ब्रिटिश हाईकोर्ट में अपील करने का विकल्प अभी बाकी

लंदन। पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामले में फरार नीरव मोदी को ब्रिटिश कोर्ट ने भारत प्रत्यर्पित करने की मंजूरी दे दी है। जिसके बाद से यह उम्मीद जताई जा रही है कि पंजाब नेशनल बैंक से लगभग 12 हजार करोड़ रुपये के गबन का आरोपी नीरव मोदी जल्द ही भारत आ सकता है। भारत पहुंचने के बाद नीरव मोदी को मुबंई के ऑर्थर रोड जेल में रखा जाएगा। लेकिन, ब्रिटिश कानूनों के अनुसार, नीरव के भारत आने में अभी भी कई पेंच फंसे हुए हैं।

नीरव मोदी के पास वेस्टमिंस्टर कोर्ट के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करने का एक विकल्प अभी बाकी है। यहां भी सुनवाई के दौरान नीरव मोदी के वकील भारतीय जांच एजेंसियों और ब्रिटिश प्रॉसिक्यूटर्स के साथ बहस करेंगे। जिसके बाद हाईकोर्ट नीरव को भारत प्रत्यर्पित करने पर अपना फैसला सुनाएगा। ऐसे में इस भगोड़े कारोबारी के अभी तुरंत भारत आने की उम्मीदें कम हैं।

लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के आज से फैसले को अभी ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल के पास हस्ताक्षर के लिये भेजा जाएगा। जिसके बाद ब्रिटिश मंत्री कोर्ट के इस फैसले को अपनी मंजूरी देंगी। अगर यहां कोई अड़चन आती है तब भी नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण में देरी हो सकती है। हालांकि, भारत सरकार के कई अधिकारी ब्रिटिश सरकार के साथ करीबी संपर्क बनाए हुए हैं।

नीरव मोदी को प्रत्यर्पण वारंट पर 19 मार्च 2019 को गिरफ्तार किया गया था और प्रत्यर्पण मामले के सिलसिले में हुई कई सुनवाइयों के दौरान वह वॉन्ड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के जरिये शामिल हुआ था। कोर्ट पहले भी नीरव के जमानत के कई अर्जियों को खारिज कर चुका है।

वेस्टमिंस्टर कोर्ट के जज सैमुअल गूजी ने आज फैसला सुनाते हुए साफ कहा कि नीरव को दोषी ठहराने लायक जरूरी सबूत मौजूद हैं। कोर्ट ने ये भी माना कि नीरव मोदी ने सबूत मिटाने और गवाहों को धमकाने की साजिश रची।

ब्रिटिश कोर्ट ने नीरव मोदी की मानसिक स्वास्थ्य चिंताओं को लेकर दी गई दलील को भी खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि ऐसी परिस्थिति में यह असामान्य बात नहीं है। जज ने बताया कि नीरव मोदी को मुंबई के आर्थर रोड जेल में पर्याप्त चिकित्सा दी जाएगी और मानसिक स्वास्थ्य देखभाल भी की जाएगी। जज ने कहा कि नीरव मोदी को भारत भेजने पर आत्महत्या का कोई खतरा नहीं है क्योंकि उसके पास आर्थर रोड जेल में पर्याप्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है।

-Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *