देश में प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्रों की संख्या बढ़कर हुई 8,742

नई दिल्ली, 30 जुलाई । देश में किफायती दरों पर दवाइयां उपलब्ध कराने के उद्देश्य से शुरू की गई प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्रों की संख्या बढ़कर 8,742 हो गई है। शनिवार को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने ट्वीट करके कहा कि देश के आम नागरिक को सस्ती एवं उत्तम दवाई उपलब्ध करवाने के लिए प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना के अंतर्गत केंद्रों की संख्या 8700 से अधिक हो गई है।

उन्होंने कहा कि पूरे देश में यह केंद्र गरीब के जेब खर्च को बचा रहे है एवं उत्तम क्वालिटी की दवाई भी उन्हें उपलब्ध हो रही हैं। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्रों का मुख्य उद्देश्य देश के नागरिकों को कम मूल्य पर दवाइयां उपलब्ध करवाना है। इस योजना के माध्यम से जेनेरिक दवाइयां कम मूल्य पर उपलब्ध करवाई जाती हैं। यह दवाइयां ब्रांडेड दवाइयों जितनी ही प्रभावी होती हैं। अब देश के सभी आर्थिक रूप से कमजोर नागरिक यह दवाइयां प्राप्त कर सकेंगे।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.